पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • 2 Crooks Sitting In Nabha And Faridkot Jails Running Out Smuggling Network, Including One Kg Of Heroin And 3 Pistols, Arrested In Jalandhar

विदेशी नंबरों से वॉट्सऐप कॉल कर डीलिंग:नाभा व फरीदकोट जेल में बैठ 2 बदमाश चला रहे तस्करी नेटवर्क, पाक से मंगवाई एक किलो हेरोइन, 4 पिस्टल समेत BA स्टूडेंट साथी जालंधर में अरेस्ट

जालंधरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हथियार व हेरोइन समेत पकड़े आरोपी के बारे में जानकारी देते SSP नवीन सिंगला। - Dainik Bhaskar
हथियार व हेरोइन समेत पकड़े आरोपी के बारे में जानकारी देते SSP नवीन सिंगला।

जेल में बैठे विदेशी नंबरों से वॉट्सऐप कॉल के जरिए डीलिंग कर हेरोइन व हथियारों की तस्करी का बड़ा नेटवर्क बेनकाब हुआ है। जालंधर रूरल पुलिस के CIA स्टाफ ने एक आरोपी को एक किलो हेरोइन, 30 व 32 बोर के 4 पिस्टल व 12 जिंदा कारतूस समेत अरेस्ट किया है। यह आरोपी नाभा व फरीदकोट जेल में बैठे दो बदमाशों के कहने पर बाहर नशे व हथियारों की तस्करी कर रहा है। शुरूआती जांच में पता चला कि यह हेरोइन पाकिस्तान से आई थी। जिसकी डिलीवरी लेकर आरोपी अमृतसर से आ रहा था। CIA स्टाफ में आरोपी से पूछताछ कर जेल तस्करी नेटवर्क से जुड़े बाकी साथियों के बारे में पता लगाया जा रहा है। पुलिस ने जेल में बैठे बदमाशों व उनके साथी के खिलाफ NDPS व आर्म्स एक्ट का केस दर्ज कर लिया है।

जेल से नेटवर्क चलने की मिली थी पुलिस को मुखबिरी

CIA स्टाफ के इंचार्ज इंस्पेक्टर जरनैल सिंह के मुताबिक उन्हें मुखबिरी मिली थी कि नाभा हाई सिक्योिरटी जेल में बंद कर्मजीत सिंह निवासी बल्लमगढ़ पटियाला और फरीदकोट जेल में बंद तरनतारन के वलीपुर का मनप्रीत सिंह मन्ना बड़े स्तर पर हेरोइन व हथियारों का धंधा कर रहे हैं। इस धंधे को जेल में बैठे हुए वो अपने गुर्गों के जरिए अंजाम दे रहे हैं। वह जेल में बैठकर विदेशी नंबरों से वॉट्सऐप के जरिए अपने साथियों से बात करते हैं। जिसके बाद जेल से बाहर हथियारों व हेरोइन का लेन-देन किया जाता है।

साथी के अमृतसर से सप्लाई लेने का पता चलते ही की नाकाबंदी

उन्हें पता चला कि संगरूर के गांव जौड़िया घनौड़ राजपूता का रहने वाला लक्ष्मण सिंह को इन्होंने स्विफ्ट कार नंबर DL-3C-BU-6629 लेकर दी हुई है। इसके जरिए ही हेरोइन व हथियारों की सप्लाई होती है। पुलिस को पता चला कि जेल में बैठे कर्मजीत व मनप्रीत के कहने पर लक्ष्मण सिंह हेरोइन व हथियार की सप्लाई लेने अमृतसर गया हुआ है। वहां से वो किशनपुरा होते हुए आदमपुर जाएगा।

गले में पड़े बैग से मिली हेरोइन व हथियार

इसका पता चलते ही CIA की टीम ने रास्ते में नाकाबंदी कर दी। इसी दौरान उक्त नंबर की कार आती दिखाई दी। पुलिस ने बैरिकेडिंग कर उसे रोक लिया। पूछताछ में पता चला कि कार चला रहा आरोपी लक्ष्मण सिंह ही है। आरोपी को हिरासत में लेकर DSP रणजीत सिंह को मौके पर बुलाया गया। जिसके बाद पुलिस ने उसके गले में पड़े क्रॉस बैग को निकालकर तलाशी ली तो उसमें से एक किलो हेरोइन बरामद हुई। उसी के अंदर एक और लिफाफा था, जिसमें से पुलिस को मैगजीन समेत 3 पिस्टल बरामद हुए। आरोपी इन्हें कहां डिलीवरी देने वाला था, इसके बारे में उससे पूछताछ की जा रही है।

BA का स्टूडेंट है पकड़ा आरोपी, कॉलेज बंद होने के बाद जेल में बैठे बदमाशों से मिला

पुलिस पूछताछ में पकड़े गए आरोपी लक्ष्मण सिंह ने बताया कि वह BA की पढ़ाई कर रहा है। लॉकडाउन की वजह से कॉलेज बंद है। इसलिए वह खाली बैठा था। जिसके बाद उसने जेल में बैठे साथियों की मदद से हेरोइन व हथियार तस्करी का काम शुरू कर दिया।

पहले पकड़े दो तस्करों के दो और साथी देहरादून से अरेस्ट

इंस्पेक्टर जरनैल सिंह ने बताया कि एक और मामले में कुछ दिन पहले पुलिस ने राकेश कुमार केशा व जसविंदर जस्सा को 4 किलो हेरोइन व 2 पिस्टल के साथ अरेस्ट किया था। यह भी जेल में बैठे गैंगस्टर पलविंदर उर्फ पिंदा ने मंगवाया था। इनके तीसरे साथी गुरसेवक सिंह उर्फ गोल्डी निवासी भादसों पटियाला को भी पुलिस ने अरेस्ट कर लिया है। उसके साथी सतवीर सिंह उर्फ सत्ती निवासी कपूरथला को भी पकड़ा गया है। यह दोनों देहरादून से अरेस्ट हुए हैं। सत्ती ही गोल्डी के रहने का प्रबंध करता था। सत्ती को जमानत पर छोड़ दिया गया है। वहीं, गोल्डी से पुलिस ने एक वरना कार भी बरामद की है। जो जेल में बंद एक नामी गैंगस्टर की है। इनसे एक पिस्टल भी बरामद किया गया है।

खबरें और भी हैं...