पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रशासन ने दी हरी झंडी:पटाखा बेचने के लिए मिलेंगे 20 अस्थायी लाइसेंस, 21 तक आवेदन, 26 को निकलेंगे ड्राॅ

जालंधर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पटाखे की दुकानें सजाने के लिए प्रशासन ने दी हरी झंडी, 2000 रुपए होगी फीस

बर्ल्टन पार्क में पटाखे की दुकानें सजाने के लिए प्रशासन ने हरी झंडी दिखा दी है। बुधवार को कमिश्नरेट पुलिस ने नोटिस जारी कर कहा है कि पटाखा बेचने के लिए 20 अस्थायी लाइसेंस जारी किए जाएंगे। इसके लिए 21 अक्टूबर शाम 5 बजे तक आवेदन किया जा सकता है।

आवेदन की फीस दो हजार रुपए होगी। आवेदन आने के बाद 26 अक्टूबर को दोपहर 3 बजे रेडक्रॉस भवन में ड्रॉ निकाले जाएंगे। ड्राॅ वाले व्यापारी ही पटाखे बेच सकेंगे। डीसीपी बलकार सिंह ने बताया कि आवेदक की उम्र 18 साल से ज्यादा होनी चाहिए। आवेदन कमिश्नरेट पुलिस की लाइसेंसिंग ब्रांच में जमा करवाए जा सकते हैं।

हर साल 20 लाइसेंस लेकिन दुकानें लगती हैं 100

एयर पॉल्यूशन और नॉयस पॉल्यूशन के मद्देनजर हाईकोर्ट के आदेश के मुताबिक 20 ही लाइसेंस इश्यू किए जाएंगे। निर्धारित पैमाने से ज्यादा आवाज वाले पटाखे बेचने पर रोक रहेगी। पिछले 3 साल से 100 पटाखा कारोबारी ही बर्ल्टन पार्क में कारोबार कर रहे हैं। दरअसल 20 लाइसेंस पर एक-एक दुकान में चार-चार कारोबारी एडजस्ट हो जाते हैं ताकि प्रशासन की सख्ती से बच सकें।

क्या कहते हैं पटाखा कारोबारी

पटाखा मार्केट एसोसिएशन के प्रधान राजेश बाहरी ने बताया कि प्रशासन कारोबारियों को तंग न करे क्योंकि कोरोना वायरस महामारी ने पहले ही कारोबार खत्म कर दिया है। पटाखा कारोबारी अमित भाटिया ने कहा कि ड्राॅ के बाद दुकानों को कम से कम 15 दिन का समय मिलना चाहिए।

विकास भंडारी ने कहा कि प्रशासन ने दुकानों के लिए हरी झंडी दिखा दी है लेकिन डर है कि कोरोना के कारण सभी वर्ग आर्थिक तौर पर तंग हैं। लाइसेंस मिलने और मार्केट सजने के बावजूद डर बना रहेगा कि पटाखे बिकेंगे या नहीं।

खबरें और भी हैं...