पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चुनाव चिह्न:किसान आंदोलन के चलते निकाय चुनावों में 295 प्रत्याशियों ने लिया ट्रैक्टर का निशान, इनमें 113 जीते

जालंधर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • निकाय चुनाव में 2832 उम्मीदवारों ने आजमाई थी किस्मत, 392 जीते, कृषि कानूनों का दिखा असर

नगर निगम, नगर पालिका/परिषद चुनावों में पहली बार किसानी मुद्दे का भी असर देखने को मिला है। एक तो ज्यादातर उम्मीदवारों ने लोकल मुद्दों को छोड़ कर किसानी मुद्दों को ही उठाया और आजाद उम्मीदवारों ने चुनाव चिह्न भी किसानी से जुड़ा हुआ ही लिया। पंजाब में ज्यादातर आजाद उम्मीदवारों ने ट्रैक्टर चलाता किसान या ट्रैक्टर का चुनाव चिह्न ही लिया। पंजाब में कुल 295 आजाद उम्मीदवारों ने चुनाव चिह्न ट्रैक्टर लिया। इनमे से 113 आजाद उम्मीदवार जीत गए हैं। यानी 38.30% ऐसे उम्मीदवार जीते जिनका चुनाव निशान ट्रैक्टर था। जालंधर और रोपड़ में सबसे ज्यादा 17-17 ट्रैक्टर निशान वाले उम्मीदवार जीते।

रोपड़ में 42 फीसदी ट्रैक्टर निशान वाले जीते- रोपड़ में 40 आजाद प्रत्याशियों ने ट्रैक्टर का निशान लिया था। इनमें से 17 जीत गए। वहीं जालंधर में 26 आजाद उम्मीदवारों को ट्रैक्टर निशान मिला और 17 जीत गए।

भाजपा के 18 प्रत्याशियाें की तो जमानत जब्त - मुक्तसर में भाजपा को 6 वार्डाें में नोटा से भी कम वोट मिले जबकि एक वार्ड में उन्हें नोटा के बराबर वोट मिले हैं। वहीं भाजपा के 21 उम्मीदवारों में से 18 की जमानत जब्त हो गई। मुक्तसर में जितने वोट भाजपा के विजेता उम्मीदवार को मिले करीब उतने वोट भाजपा के अन्य 20 उम्मीदवार को मिले।.इधर, तरनतारन, मोहाली, बठिंडा, फाजिल्का, फरीदकोट पठानकोट और फिरोजपुर में कोई भी उम्मीदवार नहीं जीता।

खबरें और भी हैं...