पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नहीं थम रहा कोरोना संक्रमण:जालंधर में 24 घंटे में मिले 500 पॉजिटिव मरीज; 22 वर्षीय युवती समेत 10 संक्रमितों ने दम तोड़ा

जालंधरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोरोना को लेकर शहर में लोगों को उनके ही भरोसे छोड़े जाने के हालात बन चुके हैं। - Dainik Bhaskar
कोरोना को लेकर शहर में लोगों को उनके ही भरोसे छोड़े जाने के हालात बन चुके हैं।

जालंधर में कोरोना का संक्रमण थम नहीं रहा है। शुक्रवार को 24 घंटे के दौरान कोरोना से करीब 500 पॉजिटिव मरीज मिले। वहीं, 22 साल की युवती समेत 10 कोरोना संक्रमितों ने दम तोड़ दिया। जिले में कोरोना से लगातार हो रही मौतों ने चिंता बढ़ा दी है। खासकर, युवाओं में संक्रमण की दर व मौतें भी बढ़ने लगी है। इसके बावजूद सेहत विभाग से लेकर जिला प्रशासन तक कोई भी संक्रमण रोकने की पुख्ता योजना बनाने में नाकाम साबित हो रहा है।

शुक्रवार को जालंधर कैंट, आदर्श नगर, अवतार नगर, देओल नगर, माडल हाउस, शहीद उधम सिंह नगर, ज्योति नगर, अशोक विहार, विंडसन पार्क, कमल विहार आदि इलाकों से पॉजिटिव केस मिले। कोरोना संक्रमण के लिहाज से अब पिछड़ा या पॉश इलाका, सभी में हालात संवेदनशील हो चुके हैं। इस वजह से अफसर अब कोरोना बचाव के लिए खुद ही मास्क पहनने, सोशल डिस्टेंस रखने के साथ सिर्फ एमरजेंसी हालात में ही घर के बाहर निकलने की अपील कर रहे हैं।

संक्रमण के बड़े खतरे के बावजूद पुलिस कार्रवाई कमजोर

हैरत की बात यह है कि जिले में इस वक्त कोरोना के संक्रमण का खतरा काफी बढ़ चुका है। हर रोज कोरोना मरीजों की गिनती के रिकॉर्ड टूट रहे हैं। इसके बावजूद कार्रवाई के नाम पर पुलिस की कोशिश काफी कमजोर नजर आ रही है। कोरोना महामारी के शुरूआती वक्त में पुलिस ने काफी सख्ती बरती थी, जिस वजह से संक्रमण रोकने में काफी मदद मिली थी। अब जबकि संक्रमण के साथ लगातार माैंतों का आंकड़ा भी काफी तेज हो चुका है, फिर भी फील्ड में पुलिस की सख्ती नजर नहीं आ रहा। यहां तक कि DGP के 80 से 90% लोगों को घर के भीतर रखने के आदेश के बावजूद उसका कोई पालन नहीं कराया जा रहा।

खबरें और भी हैं...