पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • 75 Out Of 318 Dengue Heavy Tests Confirmed On Residents, 53 Patients From City, Health Department Gave Instructions To Create Separate Wards For Corona And Dengue Patients

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

डेंगू का कहर:शहरवासियों पर डेंगू भारी 318 टेस्टों में से 75 मरीजों की पुष्टि, शहर से 53 मरीज, सेहत विभाग ने कोरोना और डेंगू के मरीजों के लिए अलग-अलग वार्ड बनाने के दिए निर्देश

जालंधरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बुधवार तक की जारी रिपोर्ट के मुताबिक पुरुषों में ज्यादा मरीज 35 से 44 और 55 साल से अधिक की उम्र के...अब तक 47 पुरुष और 28 महिला मरीजों को डेंगू की पुष्टि

कोरोनावायरस के एक्टिव मरीज कम होने के बाद अब लोग वायरल बुखार की चपेट में आ रहे हैं। शहरवासियों को डेंगू अपना शिकार बना रहा है। सीजन की बात करें तो सिविल अस्पताल की आईडीएसपी लेबोरेट्री की तरफ से बुधवार तक डेंगू के 318 संदिग्ध मरीजों के टेस्ट करवाए जा चुके हैं, जिनमें से 75 लोगों को डेंगू की पुष्टि हो चुकी है, जिनमें 47 पुरुष और 28 महिलाएं हैं। इनका इलाज निजी और सरकारी अस्पतालों के अलावा घरों में भी चल रहा है।

वहीं सेहत विभाग की तरफ से बुधवार को सिविल अस्पताल के डॉक्टरों और जिला एपिडिमोलॉजिस्ट के साथ अस्पतालों में आने वाले मरीजों की क्लीनिकल केयर करने के लिए खास दिशा-निर्देश देने के लिए कहा गया है और अधिकारियों को भी इस सीजन में डेंगू के मरीजों का खासतौर पर ध्यान रखने लिए कहा गया है।

विभाग के अधिकारियों का कहना है कि जिन अस्पतालों में कोरोनावायरस के मरीजों का इलाज चल रहा है, वहां डेंगू के लिए अलग वार्ड बनाया जाए। वहीं सिविल अस्पताल में भी डेंगू वार्ड को अलग से तैयार किया जाएगा। जिला एपिडिमोलॉजिस्ट डॉ. सतीश कुमार का कहना है कि डेंगू का सीजन अक्टूबर और नवंबर में पीक पर जाता है। इसलिए लोगों को घरों से निकलते वक्त पूरी बाजू के कपड़े पहने के अलावा। बुखार होने पर ज्यादा समय पर खुद से दवा न लें।

अगर व्यक्ति को शरीर में ज्यादा कमजोरी महसूस होती है। तो वह तुरंत डॉक्टर से दवा लें। वहीं बुधवार की रिपोर्ट के मुताबिक 75 मरीजों में से 53 मरीजों की पुष्टि शहर के अलग-अलग क्षेत्रों से हुई है। वहीं 22 मरीज देहात के क्षेत्रों से हैं।

वायरल ही नहीं... हर बुखार बोनमैरो पर डालता है असर, टूटते हैं सेल : डॉ. सतीश

जिला एपिडिमोलॉजिस्ट डॉ. सतीश कुमार का कहना है कि इन दिनों अगर लोगों के ज्यादा प्लेटलेट्स कम हो रहे है तो उसका प्रमुख कारण डेंगू नहीं है। क्योंकि, वायरल या अन्य बुखार कोई भी हो मरीज के ब्लड सेल टूटते ही टूटते हैं, क्योंकि बुखार मरीज के बोनमैरो पर असर डालता है, जिससे बॉडी में हेल्थी सेल बनते हैं। बोनमैरो पर असर पड़ने के कारण शरीर में पर्याप्त सेल नहीं बन पाते।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उन्नतिकारक है। आपकी प्रतिभा व योग्यता के अनुरूप आपको अपने कार्यों के उचित परिणाम प्राप्त होंगे। कामकाज व कैरियर को महत्व देंगे परंतु पहली प्राथमिकता आपकी परिवार ही रहेगी। संतान के विवाह क...

और पढ़ें