पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जालंधर में दर्दनाक घटना:घर के भीतर झूला झूलते वक्त गले में रस्सी फंसने से 8 वर्षीय बच्ची की मौत, मां अंदर सो रही थी

जालंधर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
घर के जंगले में टांगा झूला, जिसमें फंसकर बच्ची की जान गई। - Dainik Bhaskar
घर के जंगले में टांगा झूला, जिसमें फंसकर बच्ची की जान गई।

जालंधर के फिल्लौर के गांव दर्दपुरा से दर्दनाक घटना सामने आई है। यहां एक 8 साल की बच्ची का झूला झूलते वक्त रस्सी से गला घुट गया। जब तक उसे अस्पताल पहुंचाया जाता, उसकी मौत हो चुकी थी। जिस वक्त बच्ची झूले में बैठी, उसकी मां घर में ही सो रही थी। घटना की सूचना मिलने के बाद फिल्लौर पुलिस ने मां-बाप के बयान दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

मृतक बच्ची मुस्कान।
मृतक बच्ची मुस्कान।

घर के जंगले पर बांधा था झूला, दोपहर को उसमें खेल रही थी बच्ची

बच्ची के पिता तरसेम ने पुलिस को बताया कि वह सुबह काम पर चला गया। घर में उसकी 8 साल की बेटी मुस्कान व पत्नी थी। बच्ची के खेलने के लिए ही घर के कमरे में लगे जंगले पर झूला बांध रखा था। परिवार ने दोपहर का खाना खाया। इसके बाद मां बच्ची मुस्कान को सोने के लिए बुला रही थी। वह नहीं आई और घर के भीतर ही बने झूले पर खेलती रही। वह बच्ची को सोने के लिए आने को कहकर सो गई।

गोल-गोल घूमने से गले में फंसी रस्सी, मासूम खुद को निकाल न सकी

इसी दौरान जब मुस्कान झूले से खेल रही थी तो गोल-गोल घूमने की वजह से रस्सी उसके गले में फंसती चली गई। वह उससे बाहर नहीं निकल सकी और न ही उसे समझ आया कि इससे कैसे निकला जाए। जिस वजह से उसका गला घुटता गया और गला दबने से वह चिल्ला भी न सकी और उसकी मौत हो गई।

पौने घंटे बाद बच्ची न मिली तो मां ने देखा भयावह मंजर

पौने घंटे बाद मां की आंख खुली तो बच्ची वहां नहीं आई थी। उसने आवाज लगाई लेकिन बच्ची ने कोई जवाब नहीं दिया। जब वह झूले के पास गई तो देखा कि मुस्कान का गला झूले की रस्सी में फंसा हुआ है और शरीर भी हवा में लटक रहा है। उसने तुरंत शोर मचाया और पड़ोसियों को इकट्‌ठा कर उसे अस्पताल ले गए। वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।