AAP उम्मीदवारों की 8वीं सूची जारी:पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 के लिए जालंधर सेंट्रल, गुरु हर सहाय और अबोहर से उतारे कैंडिडेट

जालंधर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर राजनीतिक माहौल गरमाने लगा है। राजनीतिक पार्टियों ने चुनाव की विधिवत घोषणा से पहले ही अपने-अपने उम्मीदवारों की घोषणा करनी भी शुरू की दी है। शुक्रवार को आम आदमी पार्टी ने अपने प्रत्याशियों की 8वीं सूची जारी की। इसमें तीन लोगों को टिकट दिए गए हैं।

आम आदमी पार्टी ने अपनी 8वीं सूची में जालंधर सेंट्रल, गुरु हर सहाय और अबोहर से उम्मीदवार उतारे हैं। जालंधर सेंट्रल से आम आदमी पार्टी ने रमन अरोड़ा को चुनावी दंगल में उतारा है। गुरु हर सहाय से फौजा सिंह सरारी को उम्मीदवार घोषित किया है। सीमावर्ती विधानसभा क्षेत्र अबोहर, जिसके एक तरफ पाकिस्तान और दूसरी तरफ राजस्थान लगता है, से इस बार टिकट दीप कंबोज को टिकट दिया है।

आम आदमी पार्टी की 8वीं सूची में 3 उम्मीदवारों की की गई है।
आम आदमी पार्टी की 8वीं सूची में 3 उम्मीदवारों की की गई है।

वर्तमान में अबोहर से भारतीय जनता पार्टी के विधायक अरुण नारंग हैं। यह वही अरुण नारंग, जिन्हें किसान आन्दोलन के दौरान किसानों ने पीटा था और जिनके कपड़े तक फाड़ दिए गए थे। इसके बाद पंजाब में काफी वबाल हुआ था। नारंग ने अबोहर से कांग्रेस के तत्कालीन प्रधान सुनील जाखड़ को हराया था। इसी तरह जालंधर सेंट्रल से मौजूदा समय में कांग्रेस के विधायक राजिंदर बेरी हैं।

विधायक राजिंदर बेरी, जो नगर निगम जालंधर में पार्षद थे, ने कांग्रेस की टिकट पर 2017 में सेंट्रल विधानसभा क्षेत्र चुनाव लड़कर भाजपा के पूर्व मंत्री मनोरंजन कालिया को मात दी थी। फिरोजपुर जिले के अधीन आने वाला गुरु हर सहाय विधानसभा क्षेत्र भी सीमावर्ती विधानसभा क्षेत्र है। वर्तमान में यहां से कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़ने वाले राणा गुरमीत सोढी विधायक हैं।

कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार में सोढी खेल मंत्री रहे। लेकिन कैप्टन के इस्तीफा देते ही उन्हें भी मंत्रिपद से हटा दिया गया। इसके बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अपनी अलग पार्टी बना ली तो सोढी भी कांग्रेस से बागी हो गए। उन्होंने भी भारतीय जनता पार्टी में जाकर भगवा की शरण ले ली। राणा गुरमीत सोढी लगातार चार बार गुरु हर सहाय की सीट को जीत चुके हैं। पिछली बार 2017 के विधानसभा चुनाव में उन्होंने शिरोमणि अकाली दल के उम्मीदवार वरदेव सिंह को हराया था।

खबरें और भी हैं...