लापरवाही पड़ेगी भारी:यूके से आदमपुर आए 30 साल के युवक को ओमिक्रॉन कोरोना से 35 साल के बॉडी बिल्डर की मौत, 179 नए केस

जालंधर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • एक्टिव मरीजों की गिनती 410 और कुल संक्रमित 64 हजार पार
  • संक्रमितों में बैंकर, प्राइवेट कंपनी के कर्मचारी, सियासी नेता और पांच डॉक्टर भी शामिल

जिले में बुधवार को ओमिक्रॉन के दूसरे मरीज की पुष्टि हुई है। 30 साल का उक्त संक्रमित आदमपुर का रहने वाला है। वह 21 दिसंबर को यूएस से अमृतसर एयरपोर्ट पहुंचा था, जहां उसे संक्रमण की पुष्टि हुई थी। हालांकि वर्तमान में उसकी रिपोर्ट निगेटिव है, लेकिन जीनोम सिक्वेंसिंग में ओमिक्रॉन की पुष्टि हुई है। दूसरी तरफ लक्ष्मीपुरा के रहने वाले 35 साल के कुनाल कपूर की कोरोना के कारण मौत हो गई। विभाग की प्राथमिक रिपोर्ट के अनुसार युवक को पिछले दिनों से खांसी और बुखार था।

उसे अस्पताल में दाखिल करवाया तो 48 घंटे बाद ही उसकी मौत हो गई। वहीं, बुधवार को जिले में कोरोना के 179 नए केस मिले हैं। इतने ही मरीज एक जून 2021 को मिले थे। इसके साथ ही कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 64008 पर पहुंच गई है। बुधवार को फग्गू मोहल्ला गढ़ा, शाहकोट, जालंधर कैंट, शिव विहार मॉडल टाउन, मॉडल टाउन, अर्बन अस्टेट, राजा गार्डन, न्यू जवाहर नगर, जैन काॅलोनी, मोता सिंह नगर, मकसूदां, करोल बाग, आदर्श नगर, शहीद ऊधम सिंह नगर और नंगल शामा से संक्रमित मिले हैं।

मेडिकल हिस्ट्री में स्टेरॉयड के सेवन की हुई पुष्टि

लक्ष्मीपुरा के रहने वाले कुनाल को सोमवार को प्राइवेट अस्पताल में दाखिल करवाया गया था। मंगलवार को ही कोरोना की पुष्टि हुई थी और तबीयत बिगड़ने के 48 घंटे बाद ही उसने दम तोड़ दिया। वहीं, अस्पताल की तरफ से जारी डेथ फार्म में पुष्टि की गई है कि युवक स्टेरॉयड के अलावा एक अन्य पदार्थ का भी सेवन करता था। मृतक को कोविड के कारण छाती में काफी ज्यादा इनफेक्शन थी, जिस कारण उसका ऑक्सीजन लेवल 88 पर आ गया था।

6 साल की बच्ची से लेकर 73 ਵਰਵਵਰ੍वर्षीय बुजुर्ग को कोविड

बुधवार को 6 महीने बाद एक बार फिर 179 संक्रमितों की पुष्टि हुई है। बुधवार की रिपोर्ट के अनुसार 6 साल की बच्ची से लेकर 73 साल के बुजुर्ग को संक्रमण की पुष्टि हुई है। संक्रमितों में बैंकर, प्राइवेट कंपनियों के कर्मचारी, राजनीति पार्टी के वर्कर और पूर्व कैबिनेट मंत्री को संक्रमण की पुष्टि हुई है। हालांकि ज्यादातर संक्रमित परिवारों में ही मिल रहे हैं। बुधवार को सूची में एक परिवार के चार सदस्यों को भी संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके अलावा पांच डॉक्टर भी कोविड के शिकार हुए हैं। डॉक्टर्स का मानना है कि पॉजिटिव केस बढ़ने का सबसे बड़ा कारण मास्क न पहनना और सावधानियों का पालन न करना है।

माइक्रो कंटेनमेंट जोन की गिनती 20

सेहत विभाग का कहना है कि माइक्रो कंटेनमेंट की सूची 20 तक पहुंच गई है। पहले माइक्रो कंटेनमेंट जोन 5 सदस्यों पर बनता था, लेकिन सर्विलांस ज्यादा हो, इसलिए गाइडलाइंस को बदलकर दो केस आने पर माइक्रो जोन बनाया जा रहा है। कंटेनमेंट जोन की कैटेगरी 5 मरीज आने पर तय की गई है। बुधवार को न्यू विजय नगर, सूर्या एनक्लेव, बड़ा पिंड का एरिया, लाजपत नगर, राजपूत नगर, दुर्गा काॅलोनी, खांबड़ा के एरिया के अलावा 11 माइक्रो और दो कंटेनमेंट जोन चल रहे हैं।

खबरें और भी हैं...