कोरोना अपडेट / 3 दिन राहत के बाद फिर आए 8 संक्रमित, पॉश सोसायटी जालंधर हाइट्स व घनी आबादी वाले भार्गव कैंप में भी केस

सिविल अस्पताल में पुलिस कर्मचारी का सैंपल लेते हुए डॉक्टर और स्टाफ। सिविल अस्पताल में पुलिस कर्मचारी का सैंपल लेते हुए डॉक्टर और स्टाफ।
X
सिविल अस्पताल में पुलिस कर्मचारी का सैंपल लेते हुए डॉक्टर और स्टाफ।सिविल अस्पताल में पुलिस कर्मचारी का सैंपल लेते हुए डॉक्टर और स्टाफ।

  • न्यू मॉडल हाउस, न्यू जवाहर नगर और इंडस्ट्रियल एरिया में भी संक्रमित
  • कुल 247 मरीज, संक्रमितों में कारोबारी का परिवार, दोस्त और वर्कर भी शामिल

दैनिक भास्कर

May 30, 2020, 05:00 AM IST

जालंधर. कोरोनावायरस से संक्रमित 7 मरीजों की शुक्रवार को सेहत विभाग की तरफ से पुष्टि की है। इसके बाद संक्रमित मरीजों की संख्या 247 तक पहुंच गई है। जबकि एक संक्रमित मरीज कुछ दिन पहले मुंबई से लौटा था।

शुक्रवार को संक्रमित मिले मरीज शाहकोट स्थित आईएमए के अस्पताल में दाखिल हो गए। जबकि कुछ मरीजों को विभाग ने सिविल अस्पताल में दाखिल किया है। सेहत विभाग की रिपोर्ट के अनुसार शुक्रवार को जिन मरीजों की पुष्टि हुई है, उनमें से 5 मरीज करीब चार दिन पहले संक्रमित पाए गए न्यू लाजपत नगर के रहने वाले कारोबारी के संपर्क में आने वाले मरीजों के आगे संपर्क में आने वाले लोग हैं।

सेहत विभाग के वक्ता डॉ. टीपी सिंह ने बताया कि शुक्रवार को फोकल पाॅइंट निवासी 35 साल की महिला, 66 फुटी रोड जालंधर हाइट्स में रहने वाले 35 साल के व्यक्ति, न्यू मॉडल हाउस की 35 साल की महिला, न्यू जवाहर नगर की रहने वाली 31 साल की महिला, इंडस्ट्रियल एरिया के 40 साल के व्यक्ति, भार्गव कैंप की रहने वाली 40 की महिला, न्यू अमर नगर गुलाब देवी रोड के रहने वाले 65 साल की व्यक्ति और रविंदर नगर के रहने वाले 28 साल के व्यक्ति को संक्रमण की पुष्टि हुई है।

सिविल की इमरजेंसी में तैनात कर्मचारी भी पाॅजिटिव

शुक्रवार को भार्गव कैंप की रहने वाली 40 साल की महिला को कोरोनावायरस की पुष्टि हुई है। महिला सिविल अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में तैनात दर्जा-4 कर्मचारी है। उसके पाॅजिटिव होने की पुष्टि के बाद अब सिविल अस्पताल के बाकी स्टाफ के सैंपल लिए जाने की तैयारी है।

दोस्त की फैक्ट्री गया  कारोबारी भी संक्रमित

सेहत विभाग के अधिकारियों ने स्पष्ट कर दिया है कि पिछले हफ्ते में कोरोनावायरस के जिन संक्रमित मरीजों की पुष्टि हो रही है, उनमें से 95 फीसदी मरीज पहले से संक्रमित पाए गए मरीजों के संपर्क में आने से ही संक्रमित हुए हैं। वहीं फील्ड स्टाफ के डॉक्टरों का कहना है फोकल पाॅइंट के क्षेत्र में की गई स्क्रीनिंग में कुछ लोगों को खांसी-बुखार की शिकायत सामने आई है लेकिन वे कोरोनावायरस से संक्रमित नहीं है।

पिछले दिनों में सिविल अस्पताल में कुछ ऐसे मरीज भी दाखिल हुए हैं, जिनकी पहली टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद दूसरी रिपोर्ट में कोरोनावायरस की पुष्टि हुई है।

डॉक्टरों का कहना है कि लोगों को अगले दो महीने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग और ज्यादा भीड़ भाड़ वाले एरिया में जाने से बचना होगा। आने वाले दिनों में सबसे अधिक उन लोगों को दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है जो लॉकडाउन के दौरान घरों के बाहर जाते रहे हैं। ऐसे में बच्चों और बुजुर्गों का खास ध्यान रखें। समय एहतियात रखने वाला है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना