• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • After A Long Wait Of 50 Years, The Work Of Renovation Of The Library Is Complete, In The Second Phase Digitization Work Started

श्री गुरु नानक देव लाइब्रेरी:50 साल के लंबे इंतजार के बाद लाइब्रेरी के नवीनीकरण का काम पूरा, दूसरे चरण में डिजिटलाइजेशन वर्क शुरू

जालंधर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रेनोवेशन के बाद तैयार की गई श्री गुरु नानक देव लाइब्रेरी, जिसमें फर्नीचर भी बदला गया है। - Dainik Bhaskar
रेनोवेशन के बाद तैयार की गई श्री गुरु नानक देव लाइब्रेरी, जिसमें फर्नीचर भी बदला गया है।
  • सिटिंग और रेनाेवेशन पर खर्च हुए 98 लाख रुपए, डिजिटलाइजेशन पर आएगा एक करोड़ रुपए का खर्च
  • सिटी की इको फ्रेंडली लाइब्रेरी में है 1 लाख से ज्यादा किताबें
  • स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत हो रहा लाइब्रेरी का नवीनीकरण, फर्नीचर का काम बाकी, जल्द मिलेंगी सभी सुविधाएं

एक लाख से ज्यादा किताबों वाली शहर की पहली इको फ्रेंडली लाइब्रेरी अब बदल गई है। 50 साल के लंबे इंतजार के बाद लाइब्रेरी का नवीनीकरण का काम पूरा हो चुका है। केवल कुछ फर्नीचर और डिजिटलाजेशन का काम बाकी है, जिसे जल्द पूरा कर लिया जाएगा।

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत डिजिटलाइजेशन के बाद लाइब्रेरी नए रंग-रूप में युवाओं के लिए आकर्षण का केंद्र बनेगी। सिटिंग और रेनाेवेशन पर करीब 98 लाख रुपए खर्च किए गए है। लाइब्रेरी में सिविल वर्क का काम पूरा हो चुका है। अब लाइब्रेरी को डिजिटलाइजेशन करने का काम चल रहा है, जिस पर 1 करोड़ रुपए का खर्चा आएगा। लाइब्रेरी में किताबों को डिजिटल करने के अलावा 50 वर्ष पुरानी इमारत को भी नया रूप दिया गया है। रीडिंग रूम सारा दिन कुदरती ताैर पर राेशन रहता है। इसकी ऊंचाई तीन मंजिला इमारत जितनी रखी गई है ताकि ठंडक भी रहे।

दो भागों में बांटा काम

लाइब्रेरी की इमारत की हालत काफी खराब हो चुकी थी, छत से पानी गिरने के कारण कई सारी किताबें खराब हो गई थी। काफी समय के बाद लाइब्रेरी की इमारत को स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में शामिल करके इसकी नुहार बदलने पर काम शुरू हुआ था।

2020 में शुरू हुए इस प्रोजेक्ट को स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत 2 भागों में बांटा गया था। इसमें सिविल रेनोवेशन और बिजली फिटिंग का काम जालंधर स्मार्ट सिटी लिमिटेड द्वारा पीडब्ल्यूडी जालंधर शाखा के पास था। लाइब्रेरी के नवीनीकरण के काम पर 98 लाख का खर्च आया है। दूसरे चरण में लाइब्रेरी को डिजिटल करने का काम चल रहा है। इसके लिए एक करोड़ का बजट रखा गया है।

पिछले साल शुरू किया गया था रेनोवेशन का काम

नामदेव चौक के पास स्थित श्री गुरु नानक देव लाइब्रेरी को स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में शामिल करने के बाद पिछले साल लाइब्रेरी को रेनोवेट करने का काम शुरू किया गया था, अब सिविल वर्क पूरा हो चुका है। इसे डिजिटल करने के साथ- साथ लाइब्रेरी में टाइल लगाई गई है। चौकीदार के लिए एक कमरे का निर्माण करवाया गया है। लाइब्रेरी की छत की रिपेयर करने के साथ ही रंग-रोगन हाेने पर लाइब्रेरी काे नया रूप दिया गया है। इसमें लाइब्रेरी मैनेजमेंट सिस्टम, बुक्स को डिजिटलाइज करना, पत्रिकाओं की वार्षिक सदस्यता, डेस्कटॉप लगाना, पढ़ने के स्टाल और कई अन्य चीजें होंगी।

खबरें और भी हैं...