पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

केंद्र सरकार पर भड़के सिख संगठन:करतारपुर कॉरीडोर न खोलने के बाद जत्थे को ननकाना साहिब जाने से रोकना सिखों से धक्केशाही

जालंधर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
केंद्र सरकार का विरोध जताने के लिए इकट्ठा हुए सिख तालमेल कमेटी के पदाधिकारी। - Dainik Bhaskar
केंद्र सरकार का विरोध जताने के लिए इकट्ठा हुए सिख तालमेल कमेटी के पदाधिकारी।
  • कोविड का कारण बता केंद्र सरकार ने नहीं दी थी SGPC के जत्थे को मंजूरी

पाकिस्तान स्थित श्री ननकाना साहिब के दर्शन करने जा रहे शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (SGPC) के जत्थे को मंजूरी न देने पर सिख संगठन भड़क उठे हैं। सिख तालमेल कमेटी की अगुवाई में इकट्‌ठा हुए संगठनों ने कहा कि श्री करतारपुर साहिब कॉरीडोर को अभी तक नहीं खोला गया है। अब केंद्र सरकार ने कोविड का कारण बना जत्थे को पाकिस्तान नहीं जाने दिया, जबकि इसकी सारी तैयारियां हो चुकी थी। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार सिखों के साथ सरासर धक्केशाही कर रही है।

केंद्र सरकार ने दिखाई संकीर्ण मानसिकता

सिख तालमेल कमेटी के नेताओं तेजिंदर सिंह परदेसी, हरप्रीत नीटू, गुरिंदर सिंह मझैल ने कहा कि दशकों की अरदास के बाद श्री करतारपुर साहिब कॉरीडोर खोला गया था। उसे अब कोरोना की बात कहकर बंद कर दिया गया। यह अभी तक बंद है, जबकि महामारी कम होने के बाद कई बड़े धार्मिक स्थल खोेले जा चुके हैं। इसके बावजूद करतारपुर कॉरीडोर नहीं खोला गया। अब SGPC जब जत्थे को श्री ननकाना साहिब दर्शनों के लिए ले जा रही थी तो उसे रोक दिया गया। केंद्र सरकार ने अपनी संकीर्ण मानसिकता का परिचय दिया है।

सिखों की धार्मिक आजादी पर पहरा न लगाए सरकार

सिख तालमेल कमेटी के सदस्यों ने कहा कि केंद्र सरकार सिखों की धार्मिक आजादी पर पहरा लगाने की कोशिश कर रही है, जिसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। उन्होंने जल्द करतारपुर कॉरीडोर खोलने व ननकाना साहिब जाने की मंजूरी देने की मांग की। इस मौके हरप्रीत नीटू, परमिंदर सिंह, गुरदीप सिंह, गुरविंदर सिद्धू, मनिंदर सिंह भाटिया, अमनदीप सिंह आदि मौजूद थे।