• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • After Stolen Bike Killed The Friend, Nabbed Two Minors Among The Killers, After Killing The Dead Body Was Thrown On The Railway Track

दोस्त की बाइक चुराने के बाद मार डाला:हत्यारों में दो नाबालिग; हत्या के बाद रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया शव

जालंधर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पकड़ा गया हत्या आरोपी राजवीर पुलिस पार्टी के साथ। - Dainik Bhaskar
पकड़ा गया हत्या आरोपी राजवीर पुलिस पार्टी के साथ।

पिछले चहेड़ू के पास रेलवे ट्रैक पर मिले शव की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। गुरु नानक पुरा (चौगिट्टी बाईपास) के युवक कर्ण के क़ातिल उसके दोस्त ही निकले। कर्ण ने नई बाइक खरीदी थी, दोस्तों ने उसे चुरा लिया। कर्ण को जब पता चला तो उसकी दोस्तों से लड़ाई हो गई। दोस्तों ने कर्ण को मार कर चहेड़ू के पास रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया।

चहेड़ू रेलवे स्टेशन पर मिले शव पर चोट के निशान देखकर पुलिस को शक हुआ था कि युवक ट्रेन की चपेट में आने से नहीं मरा, उसे मार कर फेंका गया है। पुलिस को युवक की जेब से मोबाइल फोन भी मिला। इसी मोबाइल फोन की कॉल डिटेल ने पुलिस को हत्यारों तक पहुंचया।

पुलिस ने कर्ण की लास्ट कॉल डिटेल देखी तो उसमें तीन नंबर थे। इनमें से एक नंबर पलाही गेट, फगवाड़ा के राजवीर का था। पुलिस ने उसे बुलाया तो वह आनाकानी करने लगा। पुलिस का शक थोड़ा गहरा गया। दो अन्य नंबरों पर कॉल की तो वह भी पुलिस की पकड़ में आ गए। दोनों नाबालिग थे। पुलिस ने नाबालिगों से पूछताछ की तो उन्होंने सारे राज उगल दिए। फिर पुलिस ने मुख्य आरोपी राजवीर को भी धर लिया।

पूछताछ में राजवीर और उसके नाबालिग साथियों ने बताया कि कर्ण फैक्ट्री में काम करता था। उसने नई बाइक खरीदी थी। उन तीनों (राजवीर और नाबालिग साथियों) ने अपने ही दोस्त कर्ण की बाइक चुराने की योजना बनाई। इसके बाद उन्होंने कर्ण की बाइक को चुरा भी लिया। लेकिन कर्ण को इस बात की भनक लग गई कि उसकी बाइक राजवीर व उसके दो नाबालिग दोस्तों ने मिलकर चुराई है। कर्ण ने जब राजवीर को फोन किया तो उसने उसे चहेड़ू के पास मिलने के लिए कहा। वहां पर राजवीर के साथ दोनों नाबालिग साथी भी पहुंच गए।

चहेड़ू में दोस्तों की घटिया हरकत पर कर्ण की उनके साथ बहस हो गई। बहस बाजी मारपीट में बदल गई। इसी दौरान कर्ण के दोस्तों राजवीर व नाबालिगों ने तेजधार हथियारों ने कर्ण की हत्या कर दी। हत्या के बाद तीनों ने कर्ण के शव को उठाया पर चहेड़ू के पास रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया। तीनों ने सोचा था कि ट्रेन के नीचे शव कटने से सारा माला रफ दफा हो जाएगा और किसी को कुछ पता नहीं चलेगा। लेकिन पुलिस की तफतीश ने तीनों को मर्डर के केस में सलाखों के पीछे धकेल दिया है।

रेलवे के डीएसपी अश्वनी कुमार ने बताया कि पुलिस ने राजवीर और दो नाबालिग युवकों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता के तहत हत्या, चोरी, लूट के तहत मामला दर्ज करके तीनों को गिरफ्तार कर लिया है।