पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नाराज पार्षदों के बागी सुर हुए शांत:टकसाली कांग्रेसी के शहरी प्रधान बनाने पर सहमति

जालंधरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जालंधर शहरी कांग्रेस की प्रधानगी को लेकर सेंट्रल हलका के कांग्रेसी पार्षदों के बागी सुर वीरवार को शांत हो गए। विधायक राजिंदर बेरी और मेयर जगदीश राजा ने मॉडल टाउन स्थित मेयर हाउस में 3 घंटे से ज्यादा चली गुप्त मीटिंग में पार्षदों की नाराजगी दूर की। नाराज पार्षदों की अगुआई कर रहे पार्षद पति एवं पूर्व पार्षद गुरनाम सिंह मुल्तानी और विजय दकोहा, पार्षद मंदीप जस्सल और शमशेर खैहरा ने शर्त रखी थी किसी टकसाली कांग्रेसी को ही प्रधान बनाया जाए।

पार्टी में नए वर्करों को प्रधान बनाना स्वीकार नहीं करेंगे। पार्टी हाईकमान जिस समुदाय से प्रधान बनाना चाहे, बना दे लेकिन वो पुराना और अनुभवी वर्कर हो। विधायक बेरी ने पार्षद की मांग पर सहमति जताई। पार्षदों ने तय किया कि जिस भी समुदाय से प्रधान के लिए नाम तय किए हैं, उसको लेकर विधायक बेरी ही सांसद चौधरी के साथ एमएलए सुशील रिंकू, परगट सिंह व बावा हैनरी के साथ उसके नाम पर सहमति बनाएंगे।

पार्षदों ने 3 दावेदारों के नाम का पैनल बनाया
पार्षदों ने एमएलए बेरी और मेयर के साथ हुई मीटिंग में पैनल बनाकर दिया। उन्होंने कहा कि अगर हाईकमान दलित वर्ग को मौका देती है तो विजय दकोदा, सिख को प्रधान बनाने के फैसले पर गुरनाम सिंह मुल्तानी और अगर हिंदू को प्रधान बनाना चाहेगी तो फिर डा. सुनील शर्मा को प्रधान बनाने के लिए एमएलए बेरी लॉबिंग करेंगे।

मेयर बोले, बेरी फैसले पर कायम रहना
मीटिंग में पार्षदों की सहमति के बाद जो पैनल तय हुआ है, उस पर सभी ने संतुष्टि जताई। उन्होंने कहा कि तीनों नेताओं के पास बेहतर अनुभव है और तीन दशकों से पार्टी से जुड़े हैं। अंत में मेयर ने एमएलए बेरी से कहा कि अब कोई स्टैंड मत बदलना, बेरी जो फैसला हुआ है उस पर कायम रहना।

खबरें और भी हैं...