• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Akali Leader's Allegation – Youths Fired 3 Bullets In The Village, Saved Their Lives By Entering The House, Police Said – Were Not Found, They Are Investigating

जालंधर में आधी रात को फायरिंग:अकाली नेता का आरोप- युवकों ने गांव में 3 गोलियां चलाई, घर में घुसकर बचाई जान, पुलिस बोली- खोल नहीं मिले, जांच कर रहे

जालंधर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गोराया थाने की पुलिस मामले की जांच कर रही है। - Dainik Bhaskar
गोराया थाने की पुलिस मामले की जांच कर रही है।

जालंधर के गोराया इलाके के गांव ढंडवाड़ में बाइक सवार युवकों ने कुछ दिन पहले ही अकाली दल में शामिल हुए नेता पर फायरिंग कर दी। अकाली नेता का आरोप है कि उनका पीछा कर गांव में उनके ऊपर 3 गोलियां चलाई गईं। इसके बाद तुरंत पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने अकाली नेता के बयान लेकर दूसरी पार्टी को भी बुला लिया है। फिलहाल मौके से पुलिस को कोई खोल बरामद नहीं हुआ है।

फगवाड़ा से देर रात गांव पहुंचे तो बाइक सवारों ने हमला कर चलाई गोलियां

गांव ढंडवाड़ के अकाली नेता ओंकार सिंह ने बताया कि शुक्रवार देर रात को वह फगवाड़ा में काम निपटाकर घर लौट रहे थे। जैसे ही वो गांव में पहुंचे तो अचानक बाइक पर तीन युवक आए और उन पर हमला कर दिया। बाइक सवार लोगों ने उन पर 3 फायर किए। जिनसे बचते हुए वो किसी तरह एक घर में घुस गए और अपनी जान बचाई। इसकी शिकायत मिलने पर थाना गोराया से SHO हरदेवप्रीत सिंह व दुसांझ कलां चौकी इंचार्ज सब इंस्पेक्टर आत्मजीत सिंह वहां पहुंचे। जिसके बाद ओंकार के बयान दर्ज कर लिए गए हैं।

फगवाड़ा में तकरार हुई थी, दूसरे पक्ष को बुलाकर कर रहे जांच

पुलिस चौकी दुसांझ कलां के इंचार्ज सब इंस्पेक्टर आत्मजीत सिंह ने कहा कि ओंकार सिंह व गांव बल्लोवाल के रहने वाले दूसरे पक्ष के बीच फगवाड़ा में तकरार हुई थी। इसके बाद एक-दूसरे को देख लेने की धमकी देने की बात सामने आ रही है। जिस वजह से दूसरे आरोपियों ने ओंकार पक्ष का पीछा शुरू कर दिया। फिर गांव में आकर इनका कोई झगड़ा हुआ है। पुलिस को खोल नहीं मिले हैं, जिस वजह से फायरिंग की पुष्टि नहीं की जा सकती लेकिन जांच की जा रही है। आरोपी पक्ष को भी जांच में शामिल होने के लिए कहा है, उसके बाद पूरी स्थिति स्पष्ट होगी।

खबरें और भी हैं...