एंटीसिपेट्री बेल रिजेक्ट:फरार कांस्टेबल हरदीप लाल की एंटीसिपेट्री बेल रिजेक्ट, वहां पर शिकायतकर्ता की बाइक और मोबाइल बरामद किया गया था

जालंधरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • फिलहाल दोनों आरोपी फरार चल रहे
  • दोनों राहत पाने के लिए हाईकोर्ट जा सकते है

कोर्ट ने जबरन वसूली और करप्शन केस में नामजद थाना आदमपुर की चौकी जंडूसिंघा में तैनात रहे कांस्टेबल हरदीप लाल की मंगलवार को एंटीसिपेट्री बेल रिजेक्ट कर दी। इससे पहले कोर्ट ने चौकी इंचार्ज सुखदेव सिंह की बेल भी रिजेक्ट की थी। फिलहाल दोनों आरोपी फरार चल रहे है। दोनों राहत पाने के लिए हाईकोर्ट जा सकते है। विजिलेंस विभाग ने गांव नूरपुर के रहने वाले ड्राइवर शरनजीत सिंह की शिकायत पर 25 नवंबर की रात चौकी जंडूसिंघा में रेड की थी। वहां पर शिकायतकर्ता की बाइक और मोबाइल बरामद किया गया था।

शिकायतकर्ता ने कहा था कि वह 10 नवंबर को ओट सेंटर से दवा लेकर लौट रहा था कि पुलिस उसे पकड़ कर चौकी ले गई। यहां पर उसे डराया और नशा तस्करी का केस दर्ज करने की धमकी दी। चौकी इंचार्ज और कांस्टेबल 60 हजार रुपए मांग रहे थे, मगर बाद में 25 हजार रुपए में सौदा तय हुआ था। गारंटी के तौर पर शिकायतकर्ता की बाइक और मोबाइल रख लिया था। विजिलेंस की रेड के दौरान चौकी इंचार्ज ने दावा किया था कि शरनजीत को चिट्टे की एक पुड़िया के साथ पकड़ा था, मगर उसने विजिलेंस को दो पुड़िया दी थी, जिसमें 38 मिलीग्राम चिट्टा था। थाना आदमपुर में चौकी इंचार्ज पर नशे का पर्चा दर्ज किया गया था। तीन दिन बाद चौकी इंचार्ज बेल पर आ गया था।

खबरें और भी हैं...