पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Arguing Infection,Covid Negative Report Or Vaccination Certificate Is Necessary On Entry In Punjab, Positive Patients From Other States Will Not Be Able To Come.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोविड नेगेटिव रिपोर्ट या वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट पर एंट्री:सरकार का तर्क- संक्रमण रोकने के लिए उठाया कदम; हकीकत- बाहरी राज्यों से इलाज के लिए मरीज पंजाब नहीं आ सकेंगे

जालंधर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जालंधर बस स्टैंड पर यात्रियों की चेकिंग करती पुलिस। - Dainik Bhaskar
जालंधर बस स्टैंड पर यात्रियों की चेकिंग करती पुलिस।

पंजाब में एंट्री पर कोविड नेगेटिव रिपोर्ट या वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिखाना अनिवार्य करने का आदेश लागू हो चुका है। CM कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कुछ दिन पहले कहा था कि पंजाब में दूसरे राज्यों के मरीज के इलाज से इन्कार नहीं किया जाएगा। हालांकि सरकार का यह नया कदम अप्रत्यक्ष तरीके से दूसरे राज्यों के कोविड पॉजिटिव मरीजों को इलाज के लिए पंजाब आने से रोकने से जोड़कर देखा जा रहा है। सरकार ने इससे संक्रमण रोकने का तर्क दिया है लेकिन हकीकत यह है कि पंजाब में भी बैड व ऑक्सीजन की मांग लगातार बढ़ती जा रही है। ऐसे में सरकार अब ऐसे मरीजों का रूझान घटाने के लिए पंजाब बॉर्डर पर यह सख्ती बरत रही है।

समझिए.... कैसे रूकेगा यह सिलसिला

  • सरकार ने तय किया है कि जो भी व्यक्ति पंजाब में एंट्री करेगा, उनके पास 72 घंटे पुरानी कोविड नेगेटिव रिपोर्ट जरूरी है। ऐसे में पॉजिटिव मरीज के पास यह रिपोर्ट नहीं होगी तो वो पंजाब नहीं आ सकेंगे या बॉर्डर से लौटना होगा।
  • वैक्सीनेशन के बाद वही पंजाब आ सकता है, जिसके पास 2 हफ्ते पुराना सर्टिफिकेट हो। इसे ऐसे समझें कि कोविड पॉजिटिव आने पर मरीज को वैक्सीन नहीं लगाई जाती। डॉक्टरों के मुताबिक कोविड से रिकवर होने के 2 हफ्ते बाद ही उन्हें वैक्सीन लग सकती है। ऐसे में साफ है कि इसके जरिए भी कोविड पॉजिटिव मरीज पंजाब में एंट्री का चांस नहीं है।

सरकार चिंतित इसलिए ... अकेले जालंधर में दूसरे राज्यों के 193 मरीज भर्ती

बाहरी राज्यों व खासकर दिल्ली में बिगड़े हालात के बाद बड़ी संख्या में मरीज पंजाब पहुंचे हैं। अकेले जालंधर में ही अस्पताल में करीब 21% यानी 193 मरीज दूसरे राज्यों से आए हैं। कुल भर्ती 903 मरीजों में से जालंधर जिले के 48% यानी 425 मरीज हैं। 30% यानी 276 मरीज ऐसे हैं, जो पंजाब के ही दूसरे जिलों से जालंधर में इलाज कराने के लिए भर्ती हुए हैं। यही हाल राज्य के सबसे बड़े शहर लुधियाना समेत बाकी शहरों का भी है। जहां लोगों ने दूसरे राज्यों में इलाज न मिलने पर अपने रिश्तेदारों को भी पंजाब में बुला लिया है।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत होगा। जिससे आपकी विचार शैली में नयापन आएगा। दूसरों की मदद करने से आत्मिक खुशी महसूस होगी। तथा व्यक्तिगत कार्य भी शांतिपूर्ण तरीके से सुलझते जाएंगे। नेगेट...

और पढ़ें