• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • At 12 O'clock, The Head Of The Doll Was Beheaded And Cremated In The Crematorium, The Villagers Handed Over The Tantric And 2 Disciples To The Police.

जालंधर में जादू-टोना पर हंगामा:रात 12 बजे गुड़िया का सिर कलम कर श्मशान में चिता सजा करने लगे संस्कार, गांव वालों ने तांत्रिक व 2 चेलों की धुनाई कर पुलिस को सौंपा

जालंधर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
घड़े में रखी गर्दन कटी खिलौनी वाली गुड़िया। - Dainik Bhaskar
घड़े में रखी गर्दन कटी खिलौनी वाली गुड़िया।

जालंधर के मकसूदां स्थित नंगल सलेमपुर के श्मशानघाट में जादू-टोना करते एक तांत्रिक व उसके दो चेलों को गांव वालों ने पकड़ लिया। उन्होंने खिलौने वाली 2 गुड़िया का दातर से सिर कलम किया था। फिर सिर को घड़े में बंद कर चिता सजा अंतिम संस्कार कर रहे थे। कोरोना के चलते लगे ठीकरी पहरे की वजह से युवकों ने देख लिया। जिसके बाद उनकी जमकर धुनाई करने के बाद मकसूदां पुलिस को सौंप दिया गया। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

श्मशान से पकड़े गए आरोपी तांत्रिक व उसके चेले।
श्मशान से पकड़े गए आरोपी तांत्रिक व उसके चेले।

घड़े में गुड़िया, लिफाफे में चिता की राख व चिता के लिए लकड़ियां

मकसूदां स्थित नंगल सलेमपुर में तांत्रिकों के पकड़े जाने का वीडियो भी युवकों ने बनाया। इसमें एक मेन तांत्रिक व दो उसके साथी हैं। युवकों ने मकसूदां पुलिस को बुलाकर उनके सामान की जांच कराई। जिसमें दिखा कि एक घड़े में खिलौने वाली गुड़ियां का सिर कलम कर रखा हुआ था। एक लिफाफे में चिता की राख भी रखी थी। इसके अलावा चिता सजाने के लिए लकड़ियां भी ला रखी थी। जैसे ही वो इंसान की लाश फूंकने वाली चिता के पास पहुंचे तो युवक वहां जा पहुंचे।

सही बात न बताने पर तांत्रिक को डंडे मारता पुलिस कर्मी।
सही बात न बताने पर तांत्रिक को डंडे मारता पुलिस कर्मी।

पहले बोला, मेरे बच्चे के लिए, फिर बहन का नाम लिया

युवकों के पूछने पर एक आरोपी ने पहले कहा कि उसका बच्चा नहीं हो रहा था, इसलिए यह टोटका करवा रहे थे। फिर थोड़ी देर बाद उसने अपनी बहन के बच्चे के लिए टोटका करवाने की बात कही। हालांकि गांव के लोगों ने शक जताया कि वो किसी के बच्चे को मारने के लिए यह जादू-टोना कर रहे थे।

ग्रामीण युवकों के घेरे तांत्रिक।
ग्रामीण युवकों के घेरे तांत्रिक।

शहर में नहीं मिली जगह तो गांव में पहुंचे, घूमते देख हुआ शक

कोरोना की वजह से शहर के श्मशान घाट दिन भर व्यस्त रहते हैं। इसके अलावा रात के वक्त भी यहां पर कर्मचारी की तैनाती रहती है। इसी वजह से यह तांत्रिक व उसके चेले नंगल सलमेपुर में जादू-टोना करने पहुंचे। यहां कोरोना का खतरा भी नहीं था और गांव के श्मशान में रात को कोई नहीं होता। कुछ दिन से यह श्मशान घाट में घूम रहे थे। जिससे कोरोना के चलते ठीकरी पहरा लगाने वाले युवकों ने इन पर नजर रखी थी। जब उन्होंने चिता के पास आकर टाेटका शुरू किया तो युवकों ने उन्हें पकड़ लिया।