जालंधर मे प्लास्टिक के खिलाफ जंग:डीसी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन, कार्यकर्ता बोले-प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड नकारा, 2016 के कानून को किया जाए लागू

जालंधरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जालंधर में डीसी कार्यालय के बाहर प्लास्टिक के खिलाफ प्रदर्शन करते संस्था कार्यकर्ता। - Dainik Bhaskar
जालंधर में डीसी कार्यालय के बाहर प्लास्टिक के खिलाफ प्रदर्शन करते संस्था कार्यकर्ता।

पंजाब में प्लास्टिक के प्रयोग, उत्पादन और विक्रय पर प्रतिबंध को लेकर लगातार प्रदर्शन कर रही समाज सेवी संस्था एक्शन अगेंस्ट प्लास्टिक प्रोडक्ट्स ने मंगलवार को जालंधर के डीसी ऑफिस में प्रदर्शन किया। संस्था ने प्रशासन से मांग की है कि जालंधर में प्लास्टिक को प्रतिबंधित किया जाए और शहर को प्रदूषण मुक्त बनाया जाए।

संस्था के सदस्यों ने हाथों में बैनर तख्तियां लेकर डीसी ऑफिस के भीतर और बाहर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। प्रशासन से मांग की कि 2016 में प्लास्टिक और पॉलीथिन के प्रयोग को रोकने के लिए बनाए गए कानून को धरातल पर उतारे और इनका प्रयोग करने वालों पर सख्त एक्शन ले।

कार्यकर्ताओं ने बैनरों पर साफ-साफ लिखा था वी वांट एक्शन नाउ। एक्शन ग्रुप अगेंस्ट प्लास्टिक प्रोडक्ट्स के सदस्यों ने एक मेमोरेंडम भी इस संबंध में डीसी ऑफिस में सौंपा। संस्था के सदस्य नारेबाजी करते हुए डीसी ऑफिस में डीसी घनश्याम थोरी को ज्ञापन देने के लिए गए थे लेकिन वह ऑफिस में नहीं थे।

संस्था की प्रधान डॉ नवनीत कौर भुल्लर ।
संस्था की प्रधान डॉ नवनीत कौर भुल्लर ।

उन्होंने उनके मातहत कर्मचारियों को ज्ञापन सौंप दिया। संस्था के कार्यकर्ताओं ने लोगों को जागरूक करते हुए आज भी डीसी ऑफिस तहसील ऑफिस पुडा कॉपलेक्स से होते हुए नगर निगम के कार्यालय तक नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया।

हर मंगलवार को करते हैं प्रदर्शन

संस्था की प्रधान डॉ नवनीत कौर भुल्लर ने बताया कि उन्होंने 9 नवंबर से प्लास्टिक के खिलाफ जालंधर में अभियान छेड़ रखा है और हर मंगलवार इसी तरीके से लोगों को जागरूक करने के लिए वे जगह जगह प्रदर्शन करते हैं। उन्होंने कहा कि उनकी संस्था में डॉक्टर, इंजीनियर, वैज्ञानिक, प्रोफेसर समेत हर तबके के लोग शामिल है जिन्होंने प्रदेश को प्लास्टिक कचरा मुक्त बनाने का बीड़ा उठाया है।

नकारा साबित हो रहा है प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड

एक्शन ग्रुप अगेंस्ट प्लास्टिक के सदस्यों ने आरोप लगाया कि 2016 में पंजाब सरकार ने प्लास्टिक पॉलीथिन के खिलाफ कानून बनाया था लेकिन राजनीतिक हाथों में खेल रहे प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने इसे लागू नहीं किया।

संस्था एक साल से पटियाला में प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को प्लास्टिक पर कई बार रिप्रेजेंटेशन दे चुकी है लेकिन कार्रवाई नहीं की जा रही। उन्होंने कहा कि जब तक प्रदेश में पी 100 सोलह का एक्ट लागू नहीं हो जाता मैं अपना प्रदर्शन जारी रखेंगे।

खबरें और भी हैं...