निधन:दिनभर जन्मदिन की बधाइयां मिलीं, रात को अलविदा कह गए देवानंद

जालंधरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • मानांवाला के पास डिवाइडर से टकराई कार, जन्मदिन वाले दिन पूर्व इंटरनेशनल रेसलर देवानंद का निधन

शहर के पूर्व इंटरनेशनल खिलाड़ी एवं कोच देवानंद को रविवार दिनभर सोशल साइट्स पर जन्मदिन की बधाइयां मिलती रहीं लेकिन देर शाम वे सड़क हादसे के चलते सबको सदा के लिए अलविदा कह गए। वे अपने दोस्त के साथ अमृतसर से लौट रहे थे कि रात 8 बजे मानांवाला के पास उनकी इटियोस गाड़ी डिवाइडर से टकरा गई। गाड़ी दोस्त चला रहा था।

दोस्त को मामूली चोटें लगी हैं जबकि देवानंद के शरीर पर चोट का कोई निशान तक नहीं आया। उन्होंने मौके पर ही दम तोड़ दिया। उनकी मौत पर भारत के दिग्गज रेसलर योगेश्वर दत्त ने भी सोशल साइट शोक जताया। देवानंद ने हंसराज स्टेडियम में कोच भजन सिंह से रेस्लिंग सीखी थी। वे देश के टॉप रेसलर ओलंपियन गुरविंदर सिंह, पप्पू यादव, एमआर पाटिल, इंटरनेशनल खिलाड़ी एसपी जगजीत सिंह सरोया, रणजीत सिंह के साथ रेस्लिंग करते रहे हैं।

कई नेशनल और इंटरनेशनल मेडल भारत के लिए जीते- कोच देवानंद के छोटे भाई इंटरनेशनल रेसलर कोच रणजीत सिंह ने बताया कि कोच देवानंद 2018 में एयरफोर्स से मास्टर वारंट अफसर पद से रिटायर हुए थे। वे भारत के दिग्गज रेसलर खिलाड़ियों में शुमार थे, जिन्होंने ग्रीको रोमन रेस्लिंग कैटेगरी के 57 किलो वेट में कई नेशनल और इंटरनेशनल मेडल भारत की झोली डाले हैं। स्वीडन में 1993 में हुई वर्ल्ड रेस्लिंग चैंपियनशिप में भी भारत की तरफ से पार्टिसिपेशन की थी। 1982 से साल 2000 तक 15 नेशनल चैंपियनशिप में गोल्ड और सिल्वर मेडल हासिल किए हैैं। गुरु अर्जुन नगर बस्ती मिट्‌ठू के रहने वाले देवानंद की पत्नी रितू बाला हाउस वाइफ, बड़ा बेटा बिक्रमजीत सिंह यहीं रेस्लिंग कर रहा है और छोटा बेटा कर्ण सिंह अमेरिका में रेस्लिंग कर रहा है।

खबरें और भी हैं...