बारिश में कांग्रेस पर बरसी भाजपा:डीसी आफिस के बाहर भाजपा का धरना, सरकार के खिलाफ जमकर की नारेबाजी,  राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग

जालंधर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डीसी आफिस के बाहर धरना लगाकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते भाजपाई - Dainik Bhaskar
डीसी आफिस के बाहर धरना लगाकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते भाजपाई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक और उनकी रैली रद्द होने पर भड़के भाजपाई आज बारिश के बीच सरकार पर जमकर बरसे। भाजपाइयों ने कहा कि प्रदेश में गुंडा राज है और कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं है। उन्होंने राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की। भाजपा ने नेताओं ने कहा कि जिस राज्य में प्रधानमंत्री ही सुरक्षित नहीं है उस राज्य में आम नागरिक कैसे जी रहा होगा इसकी सहज ही कल्पना की जा सकती है।

भाजपाइयों ने कहा कि दरअसल फिरोजपुर में पंजाब के कोने-कोने से लोग पहुंच रहे थे। सभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विचार सुनना चाहते थे। इतने बड़े इकट्ठ को कांग्रेस पार्टी देखकर बौखला गई और गुंडागर्दी पर उतर आई। पंजाब भर में जगह-जगह किसानों के भेष में अपने गुंडे भेजकर भाजपा के कार्यकर्ताओं को रोका गया उन पर हमले करवाए गए।

भाजपाइयों का आरोप है कि प्रधानमंत्री को रोकने वाले किसान नहीं बल्कि कांग्रेस के गुंडे थे। उनका कहना है कि पंजाब सरकार खुद पंजाब का माहौल खराब करना चाहती है। भाजपा नेताओं ने आरोप जड़ा कि पंजाब में हर जगह सरकार ने भाजपा के कार्यकर्ताओं को रोकने की कोशिश की। पुलिस भी जगह जगह बैठे कांग्रेस के एजेंटों का साथ दे रही थी।

किसानों के रूप में बैठे कांग्रेस सरकार के एजेंटों से पहले पुलिस ही बसों गाड़ियों में जा रहे भाजपा के कार्यकर्ताओं को रोकने के प्रयास कर रही थी। जब वह विफल हो रहे थे तो आगे खुद फोन करके पहले से ही तैयार बैठे कांग्रेस के एजेंटों को फोन करके बता रहे थे कि इन्हें रोक लो।

भारतीय जनता पार्टी के नेताओं का कहना है कि प्रदेश में अराजकता का माहौल है। कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं है। प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक इसका सबसे बड़ा उदारहण है। प्रधानमंत्री पाकिस्तान की सीमा पर पुल पर बीस मिनट तक तथाकथित किसानों के झुंड के बीच घिरे रहे लेकिन पंजाब पुलिस ने इसकी कोई परवाह नहीं की।

डीसी के माध्यम से राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन

भाजपा नेताओं जिसमें मुख्य रूप से जिला प्रधान सुशील शर्मा, पूर्व सीपीएस केडी भंडारी, वरिष्ठ भाजपा नेता महेंद्र भगत, विनोद शर्मा, अशोक सरीन, दीवान अमित, अभी हाल ही में अकाली दल से भाजपा में आए पूर्व विधायक सरबजीत सिंह मक्कड़ शामिल थे ने धरना देने के बाद डीसी के माध्यम से एक ज्ञापन राष्ट्रपति को भेजा।

ज्ञापन में जिला भाजपा ने लिखा है कि पंजाब में कानून व्यवस्था पूरी तरह से खराब हो चुकी है। हर तरफ गुंडा राज है और आम नागरिक का घर से निकलना मुश्किल हो गया है। पंजाब में यहां के नागरिक और बाहर से आने वाले लोग अपने आप सुरक्षित महसूस नहीं कर रहे हैं। अतः पंजाब में कानून का राज स्थापित करने के लिए राष्ट्रपति शासन निहायत जरूरी है। इसे जितना जल्दी हो सके लगाया जाए।

खबरें और भी हैं...