किसान आंदोलन का समर्थन:पुलवामा के शहीदों की याद में निकाला कैंडल मार्च, किसानों के समर्थन में भी नारेबाजी

जालंधरएक वर्ष पहले
मॉडल टाउन में रविवार देर रात कैंडल मार्च निकालने के लिए इकट्‌ठा हुए लोग।
  • यूथ मोर्चा की अगुवाई में रविवार देर रात मॉडल टाउन में निकाला गया कैंडल मार्च

पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों की याद में जालंधर में रविवार देर रात कैंडल मार्च निकाला गया। किसान एकता मोर्चा के आह्वान पर यूथ मोर्चा की अगुवाई में मॉडल टाउन में लोग इकट्ठा हुए। इसके बाद कैंडल मार्च शहर के व्यस्त इलाकों से होते हुए गुजरा। इस मौके शामिल हुए लोगों ने किसान-मजदूर एकता के हक में नारेबाजी की। उन्होंने दिल्ली बॉर्डर पर संघर्ष में डटे किसानों को पूरा समर्थन देने का भी ऐलान किया।

काले कृषि कानून वापस ले केंद्र सरकार

यूथ मोर्चा के गगनदीप धत्त, गुरमुख बराड़, मनबीर सिंह व जस्सी तूर ने कहा कि कैंडल मार्च के जरिए पुलवामा में आतंकी वारदात की वजह से शहीद हुए जवानों श्रद्धांजलि दी गई। इसके अलावा केंद्र सरकार से भी मांग की गई कि कृषि सुधार कानून के नाम पर बनाए काले कानून तुरंत वापस लिए जाएं। उन्होंने कहा कि घर-परिवार छोड़कर 2 महीने से अधिक समय से किसान दिल्ली बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे हैं। केंद्र सरकार को अपना जिद्दी रवैया छोड़कर तुरंत कानून रद्द करने चाहिए ताकि किसान अपने घर लौट सकें। उन्होंने कहा कि जब तक किसान आंदोलन करेंगे, तब तक उनका पूरा साथ दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...