पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गर्मी से मिलेगी राहत:दो दिन छाए रहेंगे बादल, जिले में पार हो सकता है 650 एमएम बारिश का आंकड़ा

जालंधर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रविवार सुबह 9:30 बजे अचानक बारिश शुरू होने पर भीगते राहगीर। - Dainik Bhaskar
रविवार सुबह 9:30 बजे अचानक बारिश शुरू होने पर भीगते राहगीर।
  • सिटी में 21, नकोदर में 46, नूरमहल में 27 एमएम हुई बारिश

मानसून की बारिश का आंकड़ा इस बार 650 एमएम पार होने की उम्मीद है। रविवार को नकोदर रिकाॅर्ड 46 मिलीमीटर बारिश हुई। नूरमहल में 27 और जालंधर में 21 मिलीमीटर पानी गिरा है। मानसून सीजन में जालंधर का टारगेट 551 एमएम था जो अब ओवरआल 572 एमएम तक पहुंच चुका है। सितंबर के पहले 12 दिन में जालंधर में 74 एमएम के करीब बारिश हो चुकी है। अगले 48 घंटे भी बादल सक्रिय रहेंगे। बीच-बीच में धूप निकलेगी। हलकी हवाएं चलने से मौसम खुशगवार रहेगा। रविवार सुबह टेंपरेचर 23 डिग्री था। इसमें आंशिक बढ़ोतरी संभव है लेकिन गर्मी से राहत रहेगी।

रविवार को नकोदर और नूरमहल में सर्वाधिक बारिश हुई। दोनों कस्बे सतलुज के नजदीक हैं। यहां वाष्पीकरण से बादल मजबूत होते हैं। लगातार 3 दिन से बारिश के कारण आबोहवा साफ हो गई है। पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के एयर क्वालिटी मॉनिटरिंग स्टेशन के अनुसार जालंधर ग्रीन कैटेगरी वाले शहरों में शामिल हो गया है। प्रति घनमीटर हवा में केवल 48 फीसदी धूल-मिट्टी-गैस के कण थे। किसी भी शहर में शुद्ध हवा का मानक है कि प्रदूषण के कण प्रति घनमीटर 40 तक हों। जालंधर में हवा इस मानक के करीब है। खेतीबाड़ी विभाग के माहिर डाॅ. नरेश गुलाटी के अनुसार भरपूर बारिश से अब जमीन के अंदर से पानी खींचने की जरूरत नहीं है।

खबरें और भी हैं...