पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कमाल कर दिया:कंप्यूटर अध्यापक ने बनाया दुनिया का पहला पंजाबी बोलने-समझने वाला रोबोट 'सरबंस कौर'

जालंधर2 महीने पहलेलेखक: मनीष शर्मा
रोबोट सरबंस कौर के साथ उसे बनाने वाले कंप्यूटर अध्यापक हरजीत सिंह व सरकारी हाईस्कूल रोहजड़ी के विद्यार्थी।
  • 7 महीने की मेहनत से 50 हजार रुपए खर्च कर तैयार हुआ रोबोट
  • पंजाबी में सवाल पूछने पर पंजाबी में ही देता है जवाब, अब गुरबाणी भी सुना रहा

जालंधर के सरकारी हाईस्कूल के कंप्यूटर अध्यापक हरजीत सिंह ने पंजाबी बोलने व समझने वाला दुनिया का पहला रोबोट तैयार किया है। जिसका नाम 'सरबंस कौर' रखा गया है। इस रोबोट को बनाने में करीब 50 हजार रुपए खर्च हुए। जालंधर के गांव रोहजड़ी स्थित सरकारी हाईस्कूल के अध्यापक ने इसे 7 महीने में तैयार किया है। यह रोबोट उसका नाम सरबंस कौर लेने पर एक्टिव होता है और फिर पंजाबी में सवाल पूछने पर जवाब भी इसी भाषा में देता है। शुरूआत में सतश्री अकाल से लेकर अब रोबोट गुरबाणी भी सुनाता है।

पहले बनाई थी भाषा, लॉकडाउन में बना दिया रोबोट

हरजीत सिंह बताते हैं कि अध्यापक होने के नाते वह चाहते थे कि बच्चों को कंप्यूटर प्रोग्रामिंग आसानी से समझ आ जाए। इसके लिए उन्होंने कनाडा में हुई इसी तरह की कोशिश को उदाहरण लेते हुए पंजाबी में सरबंस नाम की प्रोग्रामिंग लैंग्वेज तैयार की थी। इसी दौरान कोविड की वजह से लॉकडाउन हो गया। कामयाबी मिलती है तो इच्छा बढ़ती जाती है, इसी वजह से उन्होंने रोबोट बनाने के बारे में सोचा। शुरूआत में लॉकडाउन व बाद में रात के वक्त काम कर इसे तैयार किया।

अंग्रेजी के अर्थ पंजाबी में किए, पत्नी जसप्रीत ने दी रोबोट को आवाज

कंप्यूटर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज तैयार करने के लिए उन्होंने अंग्रेजी के शब्दों को पंजाबी में अनुवाद किया। इसी लैंग्वेज के आधार पर उन्होंने रोबोट तैयार किया तो फिर यह सवाल आया कि रोबोट को आवाज कौन देगा। चूंकि रोबोट का स्वरूप एक महिला का था, इसलिए उनकी पत्नी जसप्रीत कौर ने यह जिम्मेदारी ली। पहले उन्होंने पत्नी जसप्रीत की आवाज रिकॉर्ड की। फिर उसमें थोड़ा सुधार करने के बाद रोबोट में फीड कर दिया।

ऐसे काम करता है रोबोट

हरजीत सिंह के मुताबिक सरबंस कौर रोबोट में हम जो भी फीड करना चाहें, कर सकते हैं। एक बार उसमें यह बातें फीड करने के बाद जब भी उससे पूछा जाता है तो वह अपने डेटाबेस से उसका सही उत्तर ढूंढता है और फिर सामने वाले को जवाब देता है।

ऐसे तैयार किया रोबोट

हरजीत सिंह ने बताया कि रोबोट तैयार करने में बच्चों के खिलौने, कॉपी के कवर, गत्ता, पैन, प्लग व बिजली की तारों का इस्तेमाल किया गया है।

यहां आ सकता है काम

  • गाइड - किसी धार्मिक या अन्य महत्वपूर्ण जगह का इतिहास फीड कर सकते हैं, इसके बाद रोबोट लोगों को वहां के इतिहास के बारे में बता सकता है।
  • अध्यापक - रोबोट में किसी भी तरह का ज्ञान फीड कर वह बच्चों को पढ़ाने का काम कर सकता है। बच्चों के सवालों का जवाब दे सकता है।
  • ओल्ड एज होम्स- अकेलेपन में रहने वाले बुजुर्गों से बातचीत के लिए इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके डेटाबेस में कई तरह की बातें फीड की जा सकती हैं, ताकि बुजुर्ग कुछ पूछें तो रोबोट उसका जवाब दे सकता है।

सरबंस कौर नाम इसलिए ....

हरजीत सिंह ने कहा कि सिख गुरू गोबिंद सिंह जी का एक नाम सरबंसदानी भी है। वहीं से वो प्रभावित हुए और इसका रोबोट का नाम सरबंस रखा। फीमेल होने की वजह से सरबंस कौर रखा गया है। उन्होंने कहा कि पंजाब के नामी शायद सुरजीत पातर की कविता 'मर रही मेरी भाषा' से प्रभावित होकर उन्होंने इसे पंजाबी में बनाया। अब वह चाहते हैं कि सबसे पहले अमृतसर स्थित श्री दरबार साहिब में इस रोबोट का माथा टिकवाएं।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति पूर्णतः अनुकूल है। बातचीत के माध्यम से आप अपने काम निकलवाने में सक्षम रहेंगे। अपनी किसी कमजोरी पर भी उसे हासिल करने में सक्षम रहेंगे। मित्रों का साथ और सहयोग आपकी हिम्मत और...

और पढ़ें