• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Copies Of Central Government's Agricultural Reform Laws Were Burnt Outside DC Office, Slogans Against Punjab Government Along With PM Modi

जालंधर में हंगामा:बैरिकेड तोड़ किसान पूर्व भाजपा मंत्री मनोरंजन कालिया का घर घेरने पहुंचे, भारी पुलिस बल ने पहले ही रोका

जालंधरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
प्रदर्शनकारी किसानों को भाजपा नेता के घर जाने से रोकती पुलिस। - Dainik Bhaskar
प्रदर्शनकारी किसानों को भाजपा नेता के घर जाने से रोकती पुलिस।

कृषि सुधार कानूनों को पेश करने के साल पूरा होने पर किसानों ने जालंधर में खूब हंगामा किया। संघर्ष कमेटी के नेताओं ने पूर्व भाजपा मंत्री मनोरंजन कालिया का घर घेरने की कोशिश की लेकिन पुलिस रोकने में कामयाब रही। पहले उन्हें नामदेव चौक पर बैरिकेडिंग कर रोका गया। हालांकि वहां बैरिकेड तोड़कर वो आगे बढ़ने में कामयाब रहे। इसके बाद पुलिस ने उन्हें शास्त्री चौक पर कालिया के घर के ठीक पहले रोक लिया। वहीं पर किसान संगठनों ने जमकर प्रदर्शन करते हुए केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

राष्ट्रपति ने किसानों के डेथ वारंट पर साइन किए : कुलविंदर सिंह

किसान नेता कुलविंदर सिंह ने कहा कि यह देश की पहली ऐसी सरकार है, जो कार्पोरेट घरानों के हाथों में खेल ही है। इसी वजह से कृषि सुधार के नाम पर बने काले कानून रद्द नहीं किए जा रहे। उन्होंने कहा कि यह आंदोलन किसानों को गुलामी से बचाने व लोकतंत्र में मिले अधिकार को बरकरार रखने की है। उन्होंने कहा कि आज ही के दिन राष्ट्रपति ने किसानों के लिए डेथ वारंट बने इन काले कानूनों पर साइन किए थे, इसलिए यह प्रदर्शन किया जा रहा है। इस मौके वकीलों ने भी किसानों के संघर्ष में साथ दिया।

जालंधर में DC आफिस के बाहर कृषि सुधार कानूनों की कॉपियां फूंक नारेबाजी करते किसान।
जालंधर में DC आफिस के बाहर कृषि सुधार कानूनों की कॉपियां फूंक नारेबाजी करते किसान।

सुबह DC ऑफिस के बाहर प्रदर्शन कर फूंकी कृषि कानून की कॉपियां

संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) के आह्वान पर शनिवार सुबह भारतीय किसान यूनियन (BKU) राजेवाल ने शनिवार को DC ऑफिस के बाहर कृषि सुधार कानूनों की कॉपी फूंककर रोष प्रदर्शन किया। इसी केंद्र सरकार ने पहली बार कृषि सुधार कानून पेश किए थे, जिसके विरोध में संयुक्त किसान मोर्चा ने इसे संपूर्ण क्रांति दिवस का नाम दिया था। इस दौरान किसान संगठनों ने PM नरेंद्र मोदी व केंद्र सरकार के साथ पंजाब सरकार व CM कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ भी नारेबाजी की। वह किसानों के खिलाफ पंजाब में दर्ज की जा रही FIR का विरोध कर रहे थे।

BKU राजेवाल के कश्मीर सिंह जंडियाला ने कहा कि किसान लंबे अरसे से दिल्ली बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे हैं लेकिन केंद्र सरकार इसकी सुनवाई नहीं कर रही। उन्होंने कहा कि ऐसे वक्त में जब लोग अपने घरों में बैठे हैं तो किसानों को केंद्र सरकार की गलत नीति की वजह से बेघर होना पड़ा है।