कोरोना महामारी:10 साल तक के 14 बच्चों समेत 465 को कोरोना, 31 से 40 साल के 134 लोग इनफेक्टेड

जालंधर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • शनिवार को सिविल सर्जन दफ्तर की डॉक्टर समेत पांच डॉक्टर संक्रमित पाए गए

जिले में शनिवार को 465 कोरोना संक्रमित मिले हैं। इनमें 3 महीने से लेकर 10 साल तक के 14 बच्चे भी शामिल हैं। इसके साथ ही कुल संक्रमितों की संख्या 67986 और एक्टिव केस 2880 हो गए हैं। राहत की बात रही कि किसी मरीज की कोरोना से मौत नहीं हुई। फिलहाल अब तक 1508 मरीज दम तोड़ चुके हैं। शनिवार को मिलिट्री अस्पताल से 17, करतारपुर से 10, शाहकोट से 7 समेत विभिन्न एरिया से मरीज मिले हैं। चिंता की बात यह है कि एक-एक परिवार में एक व्यक्ति से आगे तीन-तीन को संक्रमण हो रहा है।

शनिवार को सिविल सर्जन दफ्तर की डॉक्टर समेत पांच डॉक्टर संक्रमित पाए गए हैं। शनिवार के डेटा के मुताबिक युवा ज्यादा संक्रमण के शिकार हुए हैं। राहत की बात यह भी है कि किसी युवा को अस्पताल में दाखिल करने की नौबत नहीं आई। सबसे ज्यादा 134 संक्रमित 31 से 40 साल की उम्र वर्ग के हैं। सेहत विभाग की रिपोर्ट के अनुसार शनिवार को विदेश से आए चार लोगों को संक्रमण की पुष्टि हुई है। इनमें दो इंग्लैंड और दो इटली से आए हैं। इन मरीजों को एयरपोर्ट पर ही कोरोना की पुष्टि हुई है। फिलहाल ओमिक्रॉन प्रभावित हाई रिस्क देशों से आने वाले यात्रियों की संख्या 27 तक पहुंच गई है। इनमें से कोई भी मरीज न अस्पताल में दाखिल है और न ही किसी की मौत हुई है।

वैक्सीनेशन कैंप के लिए सिविल सर्जन दफ्तर में संपर्क करें

सेहत विभाग चंडीगढ़ की तरफ से डिस्ट्रिक्ट हेल्थ डिपार्टमेंट को आदेश जारी हुए हैं कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाई जाए। इसके बाद डिपार्टमेंट ने सेशन साइट्स बढ़ाने का फैसला लिया है। जिला टीकाकरण अफसर डाॅ. राकेश कुमार चोपड़ा का कहना है कि सभी एसएमओज को निर्देश दिए हैं कि अपने एरिया में कोरोना वैक्सीनेशन बढ़ाई जाए ताकि कम समय में ज्यादा लोगों को वैक्सीन लग सके। इसके अलावा फैक्ट्रियों में जिन लोगों को पहले वैक्सीन लगी थी, वे दूसरी डोज के लिए भी आगे आएं। बता दें कि शनिवार को वैक्सीनेशन ड्राइव के अधीन 14 हजार से अधिक लोगों को डोज लगाई गई।

खबरें और भी हैं...