पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मौसम का बदला मिजाज:पंजाब में दिन का पारा 45 डिग्री, शाम को तेज आंधी-बारिश के बाद 7 डिग्री तक गिरा तापमान

जालंधर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तस्वीर जालंधर की है। - Dainik Bhaskar
तस्वीर जालंधर की है।
  • सूबे में 11 से 14 जून तक रहेगा ऑरेंज अलर्ट, आंधी और बारिश के आसार
  • जालंधर, पठानकोट और बटाला में ओले

पंजाब में 45 डिग्री तक चल रहे पारे के बाद वीरवार शाम को मौसम में अचानक बदलाव आया। कई इलाकों में 47 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से धूल भरी आंधी चली। जालंधर, पठानकोट, बटाला में बारिश के साथ ओले भी गिरे, जबकि अमृतसर समेत कई जगह तेज बारिश हुई। इससे पारे में 6-7 डिग्री की गिरावट रही। वीरवार को गर्मी से फाजिल्का में एक व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि बटाला में बिजली गिरने से एक युवक की जान चली गई।

इस साल माना जा रहा है कि 3-4 दिन पहले ही मानसून सूबे में पहुंच जाएगा। जून के आखिरी में मानसून पहुंचने की उम्मीद है। वीरवार को सूबे में फिरोजपुर में पारा 45.0 डिग्री पहुंचा, जबकि न्यूनतम पारा 31 डिग्री रहा। अगर बारिश नहीं होती तो 48 घंटे में पारा 46 डिग्री पर आने की संभावना जताई गई थी। वहीं, अमृतसर का एक्यूआई 20 पर रहा, जबकि जालंधर 895 के साथ सबसे प्रदूषित रहा है।

प्रवीण पर्व, जालंधर यूं तो मानसून का सीजन 1 जून से सितंबर तक माना जाता है। इस बार जून की शुरुआत में सामान्य बारिश हो गई। 2014 से लेकर अब तक मानसून का रिव्यू करें तो 8 जिले ऐसे हैं जहां लगातार बारिश में गिरावट दर्ज हो रही है। बारिश की कमी से गंभीर संकट से फिरोजपुर, होशियारपुर और पटियाला, जालंधर, फतेहगढ़ साहिब, संगरूर, मानसा, तरनतारन जूझ रहे हैं । 2020 में 17% कम बारिश हुई थी, जो नॉर्मल 467 एमएम के मुकाबले 387.6 एमएम रही थी। पिछले साल जून में 14 दिन, जुलाई में 8 दिन, अगस्त में 6 व सितंबर में 8 दिन भरपूर बारिश के रहे थे।

खबरें और भी हैं...