रोष प्रदर्शन:कैंटोनमेंट बोर्ड के आफिस के सामने सब्जी मंडी के दुकानदारों का प्रदर्शन

जालंधर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कैंट सब्जी मंडी के विक्रेताओं ने वीरवार को कैंट बोर्ड के खिलाफ नारेबाजी की है। रोष प्रदर्शन के दौरान सब्जी विक्रेताओं के साथ पहुंचे कमल किशोर ने कहा कि कैंट बोर्ड ने 8 सितंबर को नोटिस जारी करके 15 दिन में छिन्नमस्तिका फर्म के ठेकेदार को किराया देने के लिए कहा है। कैंट बोर्ड के सीईओ फीस ने किराया नहीं देने पर सब्जी विक्रेताओं के लाइसेंस रद्द करने की बात कही है। इस घटना के बाद सारा दिन व्यापारी वर्ग में चर्चा रही। इस मामले में मंडी के दुकानदारों के प्रधान जुगनी ने कहा कि सब्जी विक्रेता अदालत के समक्ष पहले ही अपना मामला रख चुके हैं।

अब कैंट बोर्ड फीस ठेकेदार के पक्ष में नोटिस निकाल रहा है। सब्जी विक्रेता बोर्ड को किराया देने को तैयार है। इस बात को लेकर उच्च न्यायालय ने कैंट बोर्ड प्रशासन को स्टे ऑर्डर देते समय आदेश में कहा था कि वह किसी भी सब्जी विक्रेताओं को जबरदस्ती से बाहर नहीं निकालेगा। सब्जी विक्रेताओं ने पूरे मामले में मांगपत्र भी सौंपा है। वहीं, आजाद सब्जी मंडी में काम कर रहे विजय कुमार ने आरोप लगाए कि उनसे 14000 रुपए लेने

के बाद अड्डा चलाने की इजाजत दी गई है। लेकिन उन्हें वसूली गई रकम की कोई बोर्ड रसीद नहीं दी गई। आरोप है कि टैक्स ब्रांच के दोनों अधिकारियों ने बोर्ड को हजारों रुपए का राजस्व नुकसान पहुंचाया है। डिप्टी सीईओ सुधीर कुमार ने मामले की गंभीरता को देखते हुए प्रदर्शनकारी सब्जी विक्रेताओं को भरोसा दिया कि वह इस मामले की जांच के लिए लिखेंगे।

खबरें और भी हैं...