पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Dry Run Of Kovid Vaccine To Be Held At 4 Centers In Jalandhar Today, 100 Volunteers Will Take Part, From Oxygen To Ambulance Will Be Posted

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोविड वैक्सीन का ड्राई रन:जालंधर में 4 सेंटरों पर शुरूआत, 100 हेल्थ वालंटियर ले रहे हिस्सा

जालंधर18 दिन पहले
जालंधर के सिविल अस्पताल स्थित सेंटर में कोविड ड्राई रन के दौरान वालंटियर को वैक्सीन लगाती डॉक्टर।
  • शहर में 3 व ग्रामीण क्षेत्र के एक सेंटर में चल रहा ड्राई रन

जिले में 4 सेंटरों पर कोविड वैक्सीन का ड्राई रन शुरू हो चुका है। सिविल अस्पताल जालंधर में टीबी वार्ड को कोविड वैक्सीन ड्राई रन सेंटर में बदला गया है। इसके अलावा कम्युनिटी हेल्थ सेंटर बस्ती दानिशमंदा व जमशेर के साथ प्राइवेट अस्पताल के तौर पर SGL अस्पताल में ड्राई रन चल रहा है। इस ड्राई रन में सेहत विभाग से जुड़े 100 वालंटियर हिस्सा ले रहे हैं।

पहले वालंटियर का नाम लिस्ट में देखने के साथ SMS चैक किया जाता है।
पहले वालंटियर का नाम लिस्ट में देखने के साथ SMS चैक किया जाता है।

जानिए.... वैक्सीनेशन के ड्राई रन में क्या अपनाई जा रही प्रक्रिया

  • पहला स्टैप : वैक्सीनेशन सेंटर की एंट्री पर पुलिस कर्मी वैक्सीन लगवाने आए व्यक्ति का नाम लिस्ट में देखते हैं। व्यक्ति को आया SMS चेक करते हैं। इसके बाद उसका हाथ सैनिटाइज करवाया जाता है। यहां मास्क सुनिश्चित करने के बाद आगे भेजा जाता है।
एंट्री के बाद वैक्सीन लगवाने आए व्यक्ति की वैरिफिकेशन की जाती है।
एंट्री के बाद वैक्सीन लगवाने आए व्यक्ति की वैरिफिकेशन की जाती है।
  • दूसरा स्टैप : वैक्सीन लगवाने से पहले पहुंचे व्यक्ति की कोविड एप्लीकेशन से वैरिफिकेशन की जा रही है। वहां उनका I Card चैक किया जाता है। सब कुछ ठीक होने के बाद वैक्सीन लगाने वाले रूम में भेजा जाता है।
यहां फिर वैरिफिकेशन के बाद वैक्सीन लगाई जाती है।
यहां फिर वैरिफिकेशन के बाद वैक्सीन लगाई जाती है।
  • थर्ड स्टैप : यहां से वो वैक्सीन लगवाने के लिए वैक्सीनेशन रूम में जाता है। यहां फिर से एक बार उनकी वैरिफिकेशन की जाती है। फिर डॉक्टर के पास वैक्सीन लगवाने के लिए भेजा जाता है। यहां पहले उनकी तबीयत के बारे में पूछा जा रहा है और फिर वैक्सीन लगाने से पहले यह भी बताया जा रहा है कि वैक्सीन लगाने के बाद किसी तरह के साइड इफेक्ट के कौन-कौन से लक्षण हो सकते हैं। वैक्सीन लगाने के बाद उन्हें लगाने के बाद उन्हें आगे मॉनीटरिंग रूम में भेज दिया जाता है।
आखिर मे मॉनीटरिंग रूम में बिठाया जाता है। जहां सेहत संबंधी पूछताछ की जाती है।
आखिर मे मॉनीटरिंग रूम में बिठाया जाता है। जहां सेहत संबंधी पूछताछ की जाती है।
  • फाइनल स्टैप : वैक्सीन लगाने के बाद व्यक्ति को मॉनीटरिंग रूम में भेज दिया गया। वहां पर उसे 30 मिनट तक रखा जाता है। अगर किसी को कोई घबराहट या अन्य कोई परेशान होती है तो तुरंत उनका ब्लड प्रेशर चेक किया जाता है। तबीयत बिगड़ती है तो तुरंत स्ट्रेचर की व्यवस्था कर बाहर खड़ी एंबुलेंस तक पहुंचाया जाता है। वहां से उन्हें एमरजेंसी में शिफ्ट कर दिया जाता है। वैक्सीन के 30 मिनट तक कोई परेशानी नहीं होती तो फिर उन्हें भेज दिया जाता है।

ड्राई रन का हिस्सा बनकर खुश हैं वालंटियर

कोविड वैक्सीन के ड्राई रन का हिस्सा बनकर सेहत विभाग के वालंटियर खुश हैं। सिविल अस्पताल में ड्राई रन में हिस्सा लेने के बाद कमलजीत कौर व जसविंदर कौर ने कहा कि उन्हें खुशी है कि आखिरकार वैक्सीन आ रही है और वह सरकार का शुक्रिया अदा करते हैं, जिन्होंने पहले चरण में यह वैक्सीन उनके जैसे उन फ्रंटलाइन वर्करों को देने का फैसला किया, जो कोविड के खिलाफ आगे होकर जंग लड़ते रहे।

वैक्सीन लेने के बाद तबीयत बिगड़ने के लिहाज से वालंटियर की सेहत जांच करते डॉक्टर।
वैक्सीन लेने के बाद तबीयत बिगड़ने के लिहाज से वालंटियर की सेहत जांच करते डॉक्टर।

सामान्य हालात से लेकर एमरजेंसी तक का ट्रायल

कोविड ड्राई रन सेंटरों में वैक्सीनेशन के बाद व्यक्ति के सामान्य रहने से लेकर तबियत बिगड़ने तक के लिहाज से प्रैक्टिस की जा रही है। इस दौरान किसी की वैक्सीनेशन के बाद तबीयत बिगड़ती है तो तुरंत स्ट्रेचर मंगवाकर उन्हें एंबुलेंस तक पहुंचाया जा रहा है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- जिस काम के लिए आप पिछले कुछ समय से प्रयासरत थे, उस कार्य के लिए कोई उचित संपर्क मिल जाएगा। बातचीत के माध्यम से आप कई मसलों का हल व समाधान खोज लेंगे। किसी जरूरतमंद मित्र की सहायता करने से आपको...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser