कार्रवाई / कांग्रेस देहाती के कार्यकारी प्रधान सुखविंदर लाली की नंगलशामा वाली कोठी ईडी ने की अटैच

नंगलशामा वाली कोठी, जिसे ईडी ने अटैच किया है।-फाइल फोटो नंगलशामा वाली कोठी, जिसे ईडी ने अटैच किया है।-फाइल फोटो
X
नंगलशामा वाली कोठी, जिसे ईडी ने अटैच किया है।-फाइल फोटोनंगलशामा वाली कोठी, जिसे ईडी ने अटैच किया है।-फाइल फोटो

  • हवाला के जरिये 10 साल पहले भेजे 3.60 लाख कनाडियन डॉलर से कनाडा में कोठी खरीदने का मामला
  • मुझे जायदाद अटैचमेंट का कोई नोटिस नहीं मिला, जो दस्तावेज मांगे जाएंगे मैं दूंगा : लाली

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 05:44 AM IST

जालंधर.  देहाती कांग्रेस के कार्यकारी प्रधान सुखविंदर सिंह लाली की इंफोर्समेंट डायरेक्टोरेट (ईडी) ने मंगलवार को विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम (फेमा) के उल्लंघन के मामले में नंगलशामा स्थित कोठी को अटैच कर लिया है। आरोप है कि करीब दस साल पहले लाली ने कनाडा में 3 लाख 60 हजार कनेडियन डॉलर (2 करोड़ एक लाख रुपए) के जरिये एक कोठी खरीदी थी। यह पैसे बैंक की बजाय हवाला नेटवर्क के जरिये भेजे थे। इस काम में लाली के एक करीबी मित्र ने मदद की थी।

उधर, एडवोकेट कर्णवीर सिंह कोहली ने बताया कि फेमा के सेक्शन (37 ए) में यह प्रावधान है कि अगर किसी ने विदेश में फेमा का उल्लंघन कर कोई जायदाद खरीदी हो तो विभाग उतनी ही कीमत की जायदाद को अटैच कर सकता है। दूसरी ओर भास्कर से फोन पर सुखविंदर सिंह लाली ने कहा कि मैंने हाल में जांच में शामिल हुआ था। मैंने हवाला से कोई पैसा विदेश नहीं भेजा। मुझे बताया गया था कि जांच के लिए ईडी किसी जायदाद को अटैच कर सकती है। मेरे घर में अभी किसी तरह का कोई नोटिस नहीं लगाया गया है। जो भी दस्तावेज मांगे जाएंगे, वे खुद देंगे।

पिछले साल 6 दिसंबर को लाली की कोठी-दफ्तर में हुई थी रेड

ईडी के डिप्टी डायरेक्टर निरंजन सिंह ने अपनी टीम के साथ 6 दिसंबर, 2019 को देहाती कांग्रेस के प्रधान सुखविंदर सिंह उर्फ सुक्खा लाली (अब कार्यकारी प्रधान) के नंगलशामा स्थित कोठी में रेड की थी। इतना ही नहीं, लाली के बीएसएफ चौक के पास स्थित दफ्तर के साथ-साथ मॉडल टाउन में प्रापर्टी डीलर भूपिंदर सिंह भिंदा के  ड्रीम लैंड दफ्तर और आदर्श नगर में रेड की थी। 

ईडी को सूचना मिली थी कि लाली ने विदेश में हवाला के जरिये पैसे भेज कर जायदाद खरीदी है। ऐसा आरोप था कि वह बड़े स्तर पर विदेश में पैसा इन्वेस्टमेंट कर रहे थे। ईडी ने लाली के घर और भिंदा के दफ्तर से जायदाद से जुड़े काफी सारे डॉक्यूमेंट कब्जे में लेकर जांच शुरू की थी। ईडी ने 10 साल पहले कनाडा में खरीदी गई कोठी पर जांच शुरू की थी। लाली ने कोठी खरीदने के लिए 3 लाख 60  कनेडियन डॉलर (भारतीय करंसी 2 करोड़ एक लाख रुपए) पैसे भेजे थे।

यह पैसे उनके किसी बैंक खाते से नहीं गए थे और न ही उसने एेसी सूचना इनकम टैक्स या किसी अन्य एजेंसी को दी थी। लाली से कनाडा में इतनी बड़ी रकम भेजने को लेकर ईडी ने लंबी पूछताछ की थी। सबूत के तौर पर ईडी ने कनाडा में खरीदी गई कोठी का ब्यौरा तक जुटाया था। ईडी ने अब तक की जांच में माना है कि लाली ने हवाला के जरिये कनाडा में पैसे भेजे था। इसलिए जांच को आगे बढ़ाते हुए उनकी नंगलशामा में स्थित कोठी को अटैच कर लिया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना