पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

टेस्ट:कर्मचारी समय पर नहीं भर सके आवेदन कई इंग्लिश में नाम तक नहीं लिख पाए

जालंधर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सेवा केंद्रों के158 मुलाजिम पास, 12 फेल; एक महीना रहेंगे सस्पेंड
  • 33 सेवा केंद्रों के 170 कर्मचारियों का टेस्ट, दोबारा फेल होने पर मिलेगा नोटिस, फरवरी के अंत में होगी परीक्षा

जिले के 33 सेवा केंद्रों पर डाटा एंट्री सहित अन्य पदों पर काम करने वाले 170 से अधिक कर्मचारियों को टेस्ट की प्रक्रिया से गुजरना पड़ा है, जिसमें 12 कर्मचारी फेल हुए हैं। अब इन्हें एक महीने तक ट्रेनिंग दी जाएगी, इसके बाद इनकी दोबारा परीक्षा होगी।

जब ये दूसरी परीक्षा में पास हो जाएंगे तो इन्हें काम पर रखा जाएगा। हालांकि यह अभी आंतरिक टेस्ट लिया गया है। फरवरी माह के अंत तक सभी मुलाजिमों का ऑनलाइन टेस्ट होना है। इस परीक्षा में दोबारा फेल होने वाले कर्मचारियों को नोटिस थमा दिया जाएगा।

सेवा केंद्रों पर काम कर रहे कर्मचारियों का टेस्ट लेने का मकसद नागरिक सेवाओं में हो रही परेशानियों को दूर करना है। सरकार को जानकारी मिली है कि सेवा केंद्रों पर पब्लिक डीलिंग अधिक है। वहीं कई कर्मचारी ऐसे तैनात हैं, जिन्हें ठीक से कंप्यूटर तक चलाना नहीं आता है।

कंपनी के द्वारा कई कर्मचारियों को खानापूर्ति करने के लिए रख तो लिया जाता है, लेकिन इनसे आम लोगों को कोई फायदा नहीं हो रहा है। दूसरी तरफ जो कर्मचारी काम में दक्ष नहीं हैं, वह लोगों के फार्मों में गलत फीडिंग कर देते हैं, जिसके चलते लोगों को कई बार सेवा केंद्रों के चक्कर लगाने पड़ते हैं। आवेदन गलत होने पर करेक्शन के लिए अतिरिक्त शुल्क जमा करना पड़ता है। इसके साथ ही समय की अधिक बर्बादी होती है।

प्रशासन को सौंपी गई रिपोर्ट
बीते साल अक्टूबर महीने में सरकार की ओर से सेवा केंद्र के हेड को जारी पत्र में कहा गया था कि वहां काम करने वाले कर्मचारियों का टेस्ट लेकर उसकी डीसी दफ्तर में रिपोर्ट सब्मिट की जाए, ताकि कर्मचारियों के फेल पास का पता लग सके। जिला प्रशासन की ओर से कर्मचारियों के पास और फेल होने की रिपोर्ट सरकार को भेजी जाएगी। इसी के तहत कर्मचारियों को अभी आंतरिक टेस्ट लिया गया है। इसकी रिपोर्ट प्रशासन को दे दी गई है।

ग्रामीण एरिया में बुरा हाल
जानकारी के मुताबिक कई जिलों में खुले सेवा केंद्रों में से सबसे ज्यादा बुरा हाल ग्रामीण इलाकों का है। इन सेवा केंद्रों में ठीक प्रकार से काम नहीं होने के चलते आवेदन कम आ रहे हैं, जिसके कारण आमदनी कम हो रही है। ज्यादातर ग्रामीण एरिया के लोग भी अपने छोटे से बड़े कामों के लिए शहर के सेवा केंद्रों का रुख कर रहे हैं। वहीं कर्मचारी सरकार के इस फैसले का विरोध कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज मार्केटिंग अथवा मीडिया से संबंधित कोई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, जो आपकी आर्थिक स्थिति के लिए बहुत उपयोगी साबित होगी। किसी भी फोन कॉल को नजरअंदाज ना करें। आपके अधिकतर काम सहज और आरामद...

    और पढ़ें