पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Even After The Two Kidneys Were Damaged, The Hospital Did Not Perform Dialysis, The Woman Arrived In A DC Wheel Office In A Crying Wheelchair.

आयुष्मान कार्ड पर इलाज नहीं:दोनों किडनियां खराब होने के बाद भी अस्पताल ने नहीं किया डायलसिस, तड़फते-रोते हुए व्हीलचेयर पर DC दफ्तर पहुंची महिला

जालंधर4 महीने पहले
जालंधर के DC दफ्तर में व्हीलचेयर पर बैठी बीमार पत्नी के बारे में जानकारी देता पति।

आयुष्मान भारत स्कीम का कार्ड होने के बावजूद शहर के एक किडनी अस्पताल ने दोनों किडनियां खराब होने से जूझ रही महिला का इलाज नहीं किया। अस्पताल ने इलाज के बदले पैसे मांगे तो परेशान महिला सुनीता अपने पति विजय कुमार के साथ DC ऑफिस में पहुंच गई। यहां वह करीब एक घंटे तक व्हीलचेयर पर बैठे तड़फती रही और पति इंसाफ की मांग करता रहा। बाद में SDM ने बाहर आकर महिला की फरियाद सुनी और उन्हें दूसरे किडनी अस्पताल भेजकर इलाज से मना करने वाले अस्पताल के मामले की जांच करने का भरोसा दिया।

डायलसिस न होने से दर्द से तड़फती महिला के पैर दबाता परिजन।
डायलसिस न होने से दर्द से तड़फती महिला के पैर दबाता परिजन।

किडनी अस्पताल वाले बोले, पैसे दो तो इलाज होगा वर्ना यहां से चले जाओ

विजय कुमार ने कहा कि उसकी पत्नी सुनीता की दोनों किडनियां खराब हैं। उनकी पत्नी की दोनों किडनियां खराब हैं। वह सिविल अस्पताल गए तो उन्हें कहा गया कि सिविल में कोरोना की वजह से यह सुविधा नहीं है, इसलिए वो आयुष्मान भारत स्कीम के कार्ड से प्राइवेट अस्पताल से इलाज करा लें। जब वो उस अस्पताल में गए तो वहां के डॉक्टर ने अच्छे ढंग से गाइड किया और एक किडनी अस्पताल जाने को कहा। उन्होंने किडनी अस्पताल वालों को फोन भी किया कि मरीज के पास आयुष्मान कार्ड है, इसलिए वो पैसा न लें।विजय ने कहा कि जब वो उस अस्पताल में पहुंचे तो उन्होंने कार्ड मानने से इन्कार कर दिया और कहा कि डायलसिस कराने के पैसे लगेंगे। उन्होंने कार्ड दिखाया तो बोेले की पैसे होंगे तो इलाज होगा, वर्ना मरीज को लेकर चले जाओ। मजबूरी में वो डिप्टी कमिश्नर के ऑफिस आए हैं।

कार्ड बनाने के बाद कहीं भी जाओ, पैसे मांगे जाते हैं : बीमार महिला

महिला सुनीता ने कहा कि किडनी खराब होने की वजह से उनके पूरे शरीर में सूजन आ चुकी है। वह अपने पैरों पर खड़ी भी नहीं हो सकती। वो इलाज के लिए गए तो उनसे पैसे मांगे जा रहे हैं। उन्होंने तो कार्ड ये सोचकर बनाया था कि सरकारी स्कीम में उनका अच्छे से इलाज होगा लेकिन अब कहीं भी जाओ तो उनसे पैसे मांगे जाते हैं।

बीमार महिला व उसके पति से बात करते SDM जयइंदर सिंह।
बीमार महिला व उसके पति से बात करते SDM जयइंदर सिंह।

इलाज के लिए दूसरे अस्पताल में भेजा, इन्कार करने वाले मामले की जांच करेंगे : SDM

SDM डॉ. जयइंदर सिंह ने कहा कि महिला से बातचीत की है और उन्हें दूसरे अस्पताल में भेज दिया है, जहां आयुष्मान भारत स्कीम के तहत इलाज होता है। उन्होंने कहा कि बाकी आरोपों के संबंध में जांच की जाएगी।