वर्ल्ड हार्ट डे:खून पतला करने की दवा चल रही है तो भी वैक्सीन लगवाएं, क्योंकि यही कोविड से पूरी तरह बचाएगी

जालंधर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • दिनचर्या में व्यायाम को जरूर जोड़ें, क्योंकि बढ़ता कोलेस्ट्रोल इसी से कम होगा

कोरोना चाहे अभी पीक पर नहीं है, लेकिन यह दिल के रोगियों को डरा रहा है। डेढ़ साल में जिन मरीजों में कोरोना की पुष्टि हुई है, उनमें से गंभीर मरीजों के डी-डाईमर और सीआरपी के बढ़ने के कारण हृदय पर बुरा प्रभाव पड़ा है। डाॅक्टर्स का कहना है कि जिन लोगों को हार्ट संबंधी दिक्कत है, उन्हें इस समय दिल का ध्यान रखने की ज्यादा जरूरत है।

माइल्ड कोरोना वायरस के कारण कहीं न कहीं मरीजों में पोस्ट कोविड के कुछ लक्षण दिखाई दिए हैं। इसके चलते उन्हें सांस लेने में दिक्कत का भी सामना करना पड़ रहा है। इसलिए डाॅक्टर्स की सलाह है कि वे अपनी दिनचर्या को नियमित तरीके से सही करें। छाती में दर्द होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

कोविड का फेफड़ों पर असर हार्ट से सीधा संबंध नहीं

कोरोना सीधे तौर पर फेफड़ों पर असर डालता है, न कि हार्ट पर। माहिरों का कहना है कि हार्ट को काम करने के लिए ऑक्सीजन की जरूरत होती है। इसी तरह ऑक्सीजन युक्त खून शरीर के दूसरे अंगों में पहुंचाने में हार्ट अहम भूमिकाि निभाता है। हालांकि, संक्रमण जब फेफड़ों पर असर करता है तो कई मरीजों में ऑक्सीजन लेवल कम होने लगता है, जो हार्ट पर असर करता है। ज्यादा इंफ्लेमेशन के बाद धड़कन तेज हो सकती है।

नौकरी, पैसे और फ्यूचर की चिंता में युवा भी हार्ट पेशेंट- डॉ. अमित जैन

हार्ट स्पेशलिस्ट डॉ. अमित जैन का कहना है कि युवाओं व महिलाओं में जंक फूड के सेवन के कारण ही दिल से जुड़ी दिक्कतें ज्यादा आ रही हैं। बाहर के खाने के कारण काॅलेस्ट्राॅल का बढ़ना और शरीर में मोटापे आना ज्यादा हानिकारक है। दूसरी तरफ, कोविड के बाद अस्पताल में कई ऐसे युवा भी आ रहे हैं, जो टेंशन के साथ-साथ दिल की बीमारियों से जूझ रहे हैं। हालांकि यह स्ट्रेस नौकरी, पैसे और फ्यूचर को लेकर भी है।

एक-दो दिन पहले दवा छोड़ वैक्सीन जरूर लगवाएं - डॉ. विजय महाजन

हार्ट स्पेशलिस्ट डॉ. विजय महाजन के अनुसार रोज 10 से 15 मरीज फोन या अस्पताल में आकर सवाल पूछ रहे हैं कि वे लंबे समय से खून पतला करने या हार्ट की दवा का सेवन कर रहे हैं, ऐसे में क्या वे वैक्सीन लगवा सकते हैं? इसका जवाब हां है। बिना किसी चिंता के हार्ट के मरीजों को वैक्सीन लगवा लेनी चाहिए। चाहे वे वैक्सीन लगवाने से एक-दो दिन पहले दवा बंद कर दें। अगर न भी करें, पर टीकाकरण जरूर करवाएं।

खबरें और भी हैं...