जालंधर में प्लास्टिक फैक्ट्री में भीषण आग:करोड़ों का नुकसान; तैयार व कच्चा माल स्वाह, 80-80 लाख की चार मशीनें जली

जालंधर3 महीने पहले
फैक्ट्री में आग के बाद मालिक नुकसान के बारे में बताते हुए। मालिकों का रो-रो कर बुरा हाल था।

जालंधर के इंडस्ट्रियल एरिया में शनिवार को एक प्लास्टिक मैटीरियल बनाने वाली फैक्ट्री में आग लग गई। आग कारण कोई जान का नुकसान तो नहीं हुआ, लेकिन करोड़ों रुपए की मशीनरी और तैयार माल व रॉ मैटीरियल जलकर राख हो गया। आग लगने के सही कारणों का तो अभी तक पता नहीं चल पाया है, लेकिन आशंका जताई जा रही है कि आग शॉर्ट सर्किट के कारण लगी थी। आग इतनी भयंकर थी कि इस पर काबू पाने के लिए अग्निशमन विभाग की पांच गाड़ियां लगानी पड़ी।

फैक्ट्री के मालिक राजन ने कहा कि फैक्ट्री में प्लास्टिक दाना से लेकर पॉलीथिन बैग तक कई तरह का मैटीरियल तैयार होता था। लाखों रुपए का कैमिकल, कच्चा माल औऱ तैयार माल फैक्ट्री के भीतर पड़ा था। वह सारा जलकर राख हो गया है। उन्होंने कहा कि फैक्ट्री में प्लास्टिक का मैटीरियल तैयार करने वाली चार मशीनें लगी हुई थीं। एक मशीन की कीमत अस्सी लाख रुपए है। चारों मशीनें भी जल गई हैं।

प्लास्टिक फैक्ट्री में लगी आग को बुझाते अग्निशमन विभाग के कर्मचारी
प्लास्टिक फैक्ट्री में लगी आग को बुझाते अग्निशमन विभाग के कर्मचारी

आग की घटना के बाद हेडसन फैक्ट्री के मालिकों को रो-रो कर बुरा हाल था। उन्होंने कहा कि बड़ी मेहनत के साथ फैक्ट्री खड़ी की थी और आग ने उनका सब कुछ तबाह करके रख दिया। वहीं पर कुछ स्थानीय लोग मालिकों को हौसला दे रहे थे और कह रहे थे कि वह स्थानीय विधायक रमन अरोड़ा के माध्यम से सरकार से मांग करेंगे कि पीड़ित परिवार की आर्थिक सहायता की जाए। ताकि वह दोबारा फिर से अपना बिजनेस खड़ा कर सकें।

इसी बीच फायर अधिकारियों का कहना है कि आग लगने के सही कारणों की अभी तक पता नहीं चल पाया है। आग लगने के दो कारण हो सकते हैं। या तो आग शॉर्ट सर्किट की वजह से निकली चिंगारियों के कारण लगी। क्यों जितना भी मैटीरियल फैक्ट्री में प्रयोग होता था वह सारा ज्वलनशील है। हो सकता है कि शॉर्ट सर्किट के कारण उसने आग पकड़ ली हो। दूसरी कारण गर्मी भी हो सकती है। फैक्ट्री में प्रयोग होने वाले मैटीरियल ने गर्मी के कारण आग पकड़ ली हो। अभी जांच चल रही है। शीघ्र ही सही कारणों को ढूंढ निकाला जाएगा।