पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना के 'जख्म' पर मदद का 'मरहम':जालंधर सिविल अस्पताल में भर्ती मरीजों और रिश्तेदारों को खिला रहे खाना, कारोबारी दोस्तों ने की पहल

जालंधर4 महीने पहले
कोरोना मरीजों के परिजनों को लंच देते यूथ मोर्चा के सदस्य।

कोरोना से जंग में हर व्यक्ति अपना योगदान दे रहा है। कुछ इसी तरह मदद शुरू की है यूथ मोर्चा जालंधर ने। कुछ कारोबारी दोस्त हर रोज अपने खर्च पर पौष्टिक खाना बनवाते हैं। फिर उसे सिविल अस्पताल में भर्ती कोरोना के मरीजों और उनकी देखभाल करने वाले परिजनों को उपलब्ध करवा रहे हैं। पिछले एक सप्ताह से हर रोज वो लंच उपलब्ध करवा रहे हैं। सिविल अस्पताल के बाद अब वो PIMS में भी इसकी शुरुआत करने जा रहे हैं।

कोरोना मरीजों की परेशानी देख दोस्तों ने किया फैसला

यूथ मोर्चा जालंधर के गगनदीप सिंह ढट बताते हैं कि सब कोरोना के संकट से जूझ रहे हैं। ज्यादा परेशानी उन लोगों के लिए है, जो खुद कोरोना पॉजिटिव हो जाते हैं। उनके परिवार को भी काफी दिक्कत उठानी पड़ती है। यही सोचकर उन्हाेंने जसकीरत तूर, प्रभजोत सिंह खालसा, मनबीर सिंह, विक्रम धीमान, जतिन आनंद व गुरमुख बराड़ के साथ मिलकर मदद की सोची। जिसके बाद तय हुआ कि कोरोना मरीज और उनके ठीक होने के इंतजार में सिविल अस्पताल में रहते परिजनों को खाना उपलब्ध कराएंगे।

गुरुद्वारा साहिब से बनवाते हैं खाना, हर रोज अलग-अलग चीजें

इसके बाद सबने मिलकर रुपए जमा किए। फिर एक गन्ना फार्म के नजदीक एक गुरुद्वारा साहिब से बात की। वहां हम यह खाना तैयार करवाते हैं। फिर हर रोज यूथ मोर्चा से जुड़े युवक उसे लेकर सिविल अस्पताल पहुंचते हैं। यहां दिन के वक्त सभी मरीजों को खाना उपलब्ध करवाते हैं। अभी सिविल अस्पताल में रोजाना 120 लोगों को खाना दिया जा रहा है। खाने में हर रोज अलग-अलग चीजें दी जाती हैं, ताकि मरीजों को पोषण मिलने से वो जल्दी ठीक हो सकें।

यह मुश्किल घड़ी, सब एक-दूसरे की करें मदद : गगनदीप

गगनदीप ढट कहते हैं कि कोरोना महामारी की इस मुश्किल घड़ी में जिसके पास जो सामर्थ्य है, एक-दूसरे की मदद करनी चाहिए। महामारी आज आई है तो कल चली भी जाएगी लेकिन मुश्किल घड़ी में एक-दूसरे की मदद महामारी से जीत में बड़ा योगदान देगी। सबकी कोशिश होनी चाहिए कि जो इस मुश्किल घड़ी में परेशान है, उन्हें भरोसा दिलाएं कि हम सब उनके साथ हैं। उन्हाेंने कहा कि खाना बनाने से लेकर उसे बांटने तक कोरोना से जुड़ी सभी सावधानियां भी अपनाई जा रही हैं।

खबरें और भी हैं...