कार रजिस्ट्रेशन के लिए आधार में फर्जीवाड़ा:जालंधर के पूर्व विधायक रिंकू की फोटो लगाकर नंबर लेने के लिए की टेम्परिंग

जालंधर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आधार कार्ड पर लगी पूर्व विधायक सुशील रिंकू की फोटो - Dainik Bhaskar
आधार कार्ड पर लगी पूर्व विधायक सुशील रिंकू की फोटो

पंजाब के जालंधर शहर में एक फर्जीवाड़ा सामने आया है। गाड़ी का नंबर लेने के लिए लगाए गए दस्तावेजों में जालंधर वेस्ट से पूर्व विधायक सुशील रिंकू की फोटो का इस्तेमाल किया गया। फोटो का इस्तेमाल आधार कार्ड पर किया गया है। टेम्परिंग करके आधार कार्ड पर पूर्व विधायक की फोटो पेस्ट कर दी गई। मामला उस वक्त पकड़ में आया, जब RTA ऑफिस का कर्मचारी पोर्टल पर ऑनलाइन रिसीव हुए दस्तावेजों को चैक कर रहा था।

इस दौरान जो आधार कार्ड पकड़ में आया, उसमें नंबर से लेकर फोटो, एड्रेस तक हर जगह टेम्परिंग की गई थी। आधार कार्ड मोता सिंह नगर के रहने वाले किसी सौरभ चड्ढा के नाम से तैयार किया गया। RTA ऑफिस ने फर्जी आधार कार्ड वाले दस्तावेजों की फाइल क्षेत्रीय परिवहन प्राधिकरण अधिकारी को भेज दी। यह दस्तावेज अभी विवादों में चल रहे पूर्व विधायक सरबजीत सिंह मक्कड़ के भाई बिट्टू मक्कड़ की फगवाड़ा हाईवे पर स्थित मक्कड़ मोटर्स से आए थे।

हालांकि मक्कड़ मोटर्स के प्रबंधकों का कहना है कि दस्तावेजों में उनकी कोई भूमिका नहीं है। जो दस्तावेज ग्राहक गाड़ी खरीदते वक्त उन्हें देता है वह उसे रजिस्ट्रेशन के लिए आरटीए के पोर्टल पर अपलोड कर देते हैं। आगे दस्तावेजों का सत्यापन करना आरटीए आफिस का काम है।

मक्क़ड़ मोटर्स के महाप्रबंधक यश ने कहा कि उनकी एजेंसी की तरफ से कोई भी दस्तावेज टेंपर नहीं किया गया है। ग्राहक जो दस्तावेज देता है, उसे ही पोर्टल पर अपलोड किया जाता है। बता दें कि फर्जीवाड़े के मामलों को लेकर पहले भी RTA दफ्तर काफी बदनाम रहा है। ऐसा शायद पहली बार हुआ है कि दफ्तर में दस्तावेज में फर्जीवाड़ा पकड़ा गया है। अन्यथा पहले बहुत सारे ऐसे मामले दफ्तर में हो चुके हैं, जिनमें फर्जी दस्तावेजों के आधार पर ही वाहनों की रजिस्ट्रेशन कर दी गई थी।

अब भी यह आशंका जताई जा रही है कि यहां तैनात कर्मचारी अंगद के पांव की तरह कई सालों से यहां जमें हुए हैं और अपने अच्छे रिश्तों को पैसे के लिए भुनाकर कई प्राइवेट एजेंटों और डीलरों का काम जल्दी करवाने के लिए जुगाड़बाजी करते हैं। नए आए RTA रजत ओबरॉय ने इस फर्जीवाड़े पर संज्ञान लेते हुए मक्कड़ मोटर्स को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है।