पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सचिन जैन कत्लकांड में खुलासा:गौंची अरेस्ट, बोला- राजनगर के साहिल ने रेकी कर कहा था- जैन दी हट्‌टी बोहत चलदी, डेली दो लख दी सेल हुंदी

जालंधर2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
यह है तीसरा आरोपी साहिल...इसी ने सचिन जैन की दुकान के बारे की थी रेकी। - Dainik Bhaskar
यह है तीसरा आरोपी साहिल...इसी ने सचिन जैन की दुकान के बारे की थी रेकी।
  • प्रीत ने शूटर दोस्त के साथ मिलकर 72 घंटे पहले की थी हत्या की प्लानिंग

सोढल के मथुरा नगर में जैन करियाना स्टोर के मालिक सचिन जैन की गोली मारकर हत्या करने के मामले में पुलिस ने बुधवार को दीपक उर्फ गौंची वासी हरीपुर को अरेस्ट कर लिया। गौंची की पूछताछ में सनसनीखेज खुलासा हुआ है कि इस हत्याकांड में तीन नहीं पांच आरोपी थे।

गौंची ने कहा- राजनगर के साहिल ने रेकी करके बताया था कि ‘जैन दी हट्‌टी बोहत चलदी है, डेली दो लख दी सेल हुंदी।’ यह सुनकर वड्डा प्रीत ने साजिश बनाई थी। वड्डा प्रीत के साथ दो साथी कौन थे, वह नहीं जानता। वड्डा प्रीत के दोस्त ने सचिन को गोली मारी थी। पुलिस वीरवार को गौंची को कोर्ट में पेश करके रिमांड पर लेगी।

पुलिस अभी चुप्प है कि हत्यारे पांच थे। डीसीपी गुरमीत सिंह ने बताया कि एसएचओ रविंदर कुमार को सूचना मिली थी कि गौंची सिटी में देखा गया है। वह सिटी छोड़ कर भागने की फिराक में है, मगर भागने से पहले फंड जुटा रहा है। इसके बाद पुलिस ने ट्रैप लगाकर उसे पकड़ लिया।

डीसीपी ने कहा कि तीसरे आरोपी साहिल ने रेकी की थी। साहिल के घर रेड की तो पता चला कि वह वारदात वाले दिन से घर नहीं आया है। पुलिस शहीद बाबू लाभ सिंह नगर के रहने वाले लुटेरे अर्श प्रीत सिंह उर्फ वड्डा प्रीत और साहिल की तलाश में 7 विशेष टीमें रेड कर रही हैं।

सिटी छोड़कर भागने की फिराक में था गौंची
वड्डे प्रीत ने कॉल करके दो साथी बुलाए थे। दोनों अलग बाइक पर आ गए। उनके पास वेपन था। वे सीधे सोढल रोड पर पहुंच गए। वड्डा प्रीत, साहिल और उनके साथ आया एक युवक दुकान के अंदर चले गए थे। जैन को खींच कर बाहर निकाला और पैसे मांगे। जैन चिल्लाने लगा तो वड्डा प्रीत के दोस्त ने गोली मार दी।

इसके बाद वे दो बाइक पर भाग निकले। पठानकोट चौक में वह उतर गया, क्योंकि रात में घर नहीं जा सकता था। इसलिए पठानकोट चौक के पास एक होटल में कमरा लेकर रुक गया। मंगलवार सुबह उसके होश उड़ गए, जब पता चला कि जैन मर गया। इसके बाद होटल से निकल कर अपने एक दोस्त से पैसे मांगे, ताकि वह सिटी छोड़ कर भाग सके। गौंची का दावा है कि उसे नहीं पता कि बाकी के 4 आरोपी कहां पर छुपे हैं। गौंची सच बोल रहा है या फिर पुलिस को गुमराह कर रहा है, इस बात का खुलासा साहिल व वड्डा प्रीत के पकड़ में आने के बाद ही होगा।

तल्हण से डीएवी काॅलेज नहर और फिर वहां से सोढल पहुंचे थे हत्यारे
उधर, मामले की जांच से जुड़े सूत्र बताते हैं कि राज नगर का साहिल, अर्श प्रीत का दोस्त है। साहिल सोशल मीडिया पर बहुत ज्यादा एक्टिव है। गौंची ने माना कि आदमपुर में सागर के कत्ल के बाद उनकी गैंग बिखर गई थी। इसलिए दीपक की दोस्ती अर्शप्रीत से हो गई। गौंची ने कहा उसे वड्डा प्रीत ने कॉल करके कहा था कि एक करियाना स्टोर में लूट करनी है।

देर शाम वे तल्हण से डीएवी कॉलेज नहर के पास पहुंच गए। तब वड्डा प्रीत ने कहा कि साहिल ने सोढल फाटक के पास जैन करियाना स्टोर की रेकी की है। यह शॉप रात 9 बजे तक खुली रहती है। 8:30 आठ बजे तक रोड की ज्यादातर दुकानें बंद हो जाती हैं। जैन की हर रोज 2 लाख की सेल है।

रेकी में बताया 2 लाख सेल, थे 9 हजार रुपए
सोमवार रात तेल वाली गली के रहने वाले सचिन जैन को उनकी करियाना स्टोर में लुटेरे गोली मार गए थे, जब उसने पैसे देने से इनकार किया था। रेकी करने वाले साहिल ने बताया था कि जैन की रोज की सेल 2 लाख रुपए है जबकि उसकी जेब में तब 9 हजार रुपए थे। जैन को 45 मिनट तक जख्मी हालत में उसके दोस्त सिटी के 4 बड़े प्राइवेट अस्पतालों में लेकर गए थे, मगर किसी ने दाखिल नहीं किया था। मंगलवार तड़के सचिन ने दम तोड़ दिया था।

खबरें और भी हैं...