पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Give The Strength To Fight The Epidemic Crisis, Change The Environment Of Temples With Mini Lockdown, Committees Giving Masks And Sanitizers

प्रभु से कामना कीजिए:महामारी के संकट से जूझने की ताकत दें, मिनी लॉकडाउन से बदला मंदिरों का माहौल, मास्क और सैनिटाइजर दे रहीं कमेटियां

जालंधरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मंदिर के प्रवेश द्वार पर सेवादार को तैनात किया गया जोकि श्रद्धालुओं को बिना सैनिटाइजर, मास्क और टैंपरेचर चैक किए बिना मंदिर में आने की अनुमति नहीं देता।  - Dainik Bhaskar
मंदिर के प्रवेश द्वार पर सेवादार को तैनात किया गया जोकि श्रद्धालुओं को बिना सैनिटाइजर, मास्क और टैंपरेचर चैक किए बिना मंदिर में आने की अनुमति नहीं देता। 

मानवता पर आए कोरोना महामारी के सबसे बड़े संकट से लड़ने की ताकत प्रभु ही अपने बच्चों को दे सकते है । अपनी मनोकामनाएं के साथ भगवान से भक्त कोरोना से लड़ने की ताकत भी मांग रहे है। मंदिरों में सैनिटाइजेशन, मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के प्रबंध नए सिरे से किए गए है। अब मंदिरों के कपाट शाम 6 बजे ही बंद हो जाते है । जबकि रोजाना सेनिटेशन से वायरस से बचाव का प्रबंध किया जा रहा है। मंदिर कमेटी के सदस्यों ने भी प्रशासन के नियमों की पालना करते हुए श्रद्धालुओं की सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए ।

मंदिर में देवी-देवताओं की सेवा कर रहे पुजारी को मास्क पहनने, सैनिटाइजर आदि इस्तेमाल करने के आदेश है । श्रद्धालुओं को मंदिर में प्रवेश करने की संख्या से लेकर माथा टेकने तथा पूजा अर्चना करने को लेकर हिदायतें दी गई हैं। आज के समय में बहुत से ऐसे श्रद्धालु हैं जिनके काम व व्यापार की शुरुआत मंदिर में माथा टेकने के बाद होती है।

मंदिर के प्रवेश द्वार पर सेवादार तैनात

श्री देवी तालाब प्रबंधक कमेटी के महासचिव राजेश विज ने बताया कि प्रशासन की गाइडलाइन के अनुसार ही मंदिर खोलने तथा बंद करने का समय निर्धारित किया गया है । जिसके अनुसार ही श्रद्धालु मंदिर परिसर में रहकर ही दरबार में माथा टेक सकते है । मंदिर के प्रवेश द्वार पर सेवादार को तैनात किया गया जोकि श्रद्धालुओं को बिना सैनिटाइजर, मास्क और टैंपरेचर चैक किए बिना मंदिर में आने की अनुमति नहीं देता।

मंदिर में प्रसाद चढ़ाने, बैठने की मनाही

कष्ट निवारण श्री बालाजी मंदिर के प्रधान रमन अरोड़ा ने बताया कि मंदिर में कोरोना वायरस की वजह से होने वाले सारे धार्मिक कार्यक्रमों को रद्द कर दिया गया है । उन्होंने बताया कि मंदिर में श्रद्धालुओं की सुरक्षा को ध्यान में रखकर ही सारे इंतेजाम किए हुए है । मंदिर में प्रसाद चढ़ाना, तिलक लगाना, बैठना आदि पर रोक लगा दी गई । सिर्फ श्रद्धालु दरबार में माथा टेकने के लिए ही मंदिर प्रांगण में आते है । उन्होंने बताया कि मास्क का भी प्रबंध किया गया ।

बुजुर्गों के लिए व्हीलचेयर का प्रबंध

महालक्ष्मी मंदिर जेल रोड के प्रधान दर्शन लाल शर्मा और राहुल बाहरी ने बताया कि कोरोना महामारी के कारण पहले ही लोग बहुत ही परेशान और मुश्किलों का सामना कर रहे है। धार्मिक स्थान एक एेसा स्थान है जहां पर लोगों की मुरादें पूरी होती है। उन्होंने बताया कि इस भयानक बीमारी को ध्यान में रखते हुए। मंदिर में श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए सैनिटाइजर, निशुल्क मास्क, मेडिकल का प्रबंध आदि किया गया है। इसके अलावा बुजुर्गों के लिए व्हीलचेयर का प्रबंध किया गया।

खबरें और भी हैं...