पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Government Buses Strike In Punjab For The 9th Day, Calling The Conductor Doing Duty In Moga A Traitor, Wearing Bangles And Sardines On His Head, Employees' Meeting With CM Today

पंजाब में सरकारी बसों का चक्काजाम खत्म:सरकार से बैठक के बाद 29 सितंबर तक टली कॉन्ट्रैक्ट कर्मियों की हड़ताल; वेतन में 30% बढोतरी की, पक्की नौकरी पर एक हफ्ते में फैसला, बसें कल से चलेंगी

जालंधर7 दिन पहले
मोगा बस स्टैंड पर कंडक्टर को हाथ में चूड़ियां व सिर पर चुन्नी पहनाते हड़ताली कर्मचारी।
  • मोगा में ड्यूटी कर रहे कंडक्टर को गद्दार कहकर हाथ में चूड़ियां व सिर पर चुन्नी पहनाई

पंजाब में सरकारी बसों का चक्काजाम खत्म हो गया है। मंगलवार को चंडीगढ़ में पंजाब सरकार के अफसरों से बैठक के बाद कॉन्ट्रैक्ट कर्मचारियों ने हड़ताल 29 सितंबर तक टाल दी है। सरकार से हुई बातचीत में उनके वेतन में 30% बढोतरी कर दी गई। वहीं, वेतन में हर साल 5% बढोतरी हाेगी। इसके अलावा उन्हें भरोसा दिया गया कि कर्मचारियों को एक हफ्ते के भीतर पक्का करने पर फैसला लिया जाएगा। इसके लिए सरकार को लीगल राय लेनी है। जिसके बाद कर्मचारियों ने चक्काजाम खत्म करने की घोषणा कर दी। अब कल से सरकारी बसें फिर से चलने लगेंगी।

यूनियन के प्रदेश प्रधान रेशम सिंह ने कहा कि सरकार ने हमसे 8 दिन का समय मांगा था, हमने 14 दिन का दिया है। तब तक रेगुलर करने का नोटिफिकेशन न हुआ तो फिर 15वें दिन से चक्काजाम कर दिया जाएगा।

मोगा में काम कर रहे कंडक्टर पर फूटा कर्मचारियों का गुस्सा

इसी बीच मोगा में हड़ताली कर्मचारियों का गुस्सा एक कंडक्टर पर फूटा। कंडक्टर पीआरटीसी के फरीदकोट डिपो पर कार्यरत है, जो हड़ताल में शामिल होने की बजाय ड्यूटी कर रहा था। जब वह बस के साथ मोगा बस स्टैंड पहुंचा तो हड़ताली कर्मचारियों ने उसे घेर लिया। यूनियन ने उसे गद्दार कहते हुए हाथ में चूड़ियां व सिर पर चुन्नी पहना दी। इसके बाद 'गद्दार लोग मुर्दाबाद' के नारे भी लगाए। अब कर्मचारियों के विरोध के इस तरीके पर सवाल उठ रहे हैं।

कर्मचारियों का कहना है कि कंडक्टर कॉन्ट्रैक्ट पर है। पूरे पंजाब में पंजाब रोडवेज, पनबस व पीआरटीसी का कोई कर्मचारी काम नहीं कर रहा। इसके बावजूद इस कंडक्टर ने यूनियन से अलग होकर बगावत की है। यूनियन सबके लिए लड़ रही है। ऐसे में सबको अपना समर्थन देना चाहिए। अगर मांगें मान ली जाती हैं तो इसका फायदा कॉन्ट्रैक्ट पर काम कर रहे सभी कर्मचारियों को ही होगा।

कंडक्टर के हाथ में जबरन चूड़ियां पहनाते हड़ताली कर्मचारी।
कंडक्टर के हाथ में जबरन चूड़ियां पहनाते हड़ताली कर्मचारी।

8 हजार कर्मचारी थे हड़ताल पर, 2 हजार बसों की आवाजाही थी ठप

पंजाब में पनबस, पंजाब रोडवेज व पीआरटीसी के 8 हजार कर्मचारी हड़ताल पर चल रहे थे। जिस वजह से करीब 2 हजार सरकारी बसें पंजाब के 29 डिपुओं पर खड़ी थी। यूनियन प्रधान रेशम सिंह ने कहा कि बसों के चक्काजाम की वजह से लोगों को परेशानी हो रही थी। जिसे देखते हुए हमने हड़ताल टालने का फैसला किया है। अब यह सरकार पर है कि वो हमारी सभी मांगे मान ले ताकि दोबारा चक्काजाम करने की नौबत न आए।

खबरें और भी हैं...