दर्शन:जंग-ए-आजादी यादगार का भ्रमण कर, श्री देवी तालाब मंदिर में नतमस्तक हुए राज्यपाल

जालंधर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
श्री देवी तालाब मंदिर में नतमस्तक होते हुए राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित। - Dainik Bhaskar
श्री देवी तालाब मंदिर में नतमस्तक होते हुए राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित।
  • पीएपी कैंपस में ठहरे, आज सुबह 10:30 बजे खटकड़ कलां जाएंगे

राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित सोमवार को जालंधर में रहे। सबसे पहले वे करतारपुर में जंग-ए-आजादी यादगार गए। म्यूजियम में देश की आजादी के लिए कुर्बानी देने वाले पंजाबियों की हिस्सेदारी के संबंध में बनी गैलरियां देखीं। उन्होंने कहा कि इस स्मारक ने युवा पीढ़ी को राष्ट्रवाद और देशभक्ति की भावना के साथ जोड़ा है। स्मारक उन महान स्वतंत्रता सेनानियों और शहीदों को उचित श्रद्धांजलि है, जिन्होंने देश को ब्रिटिश उपनिवेशवाद से मुक्ति दिलाने के लिए अपने प्राणों की आहुति दी।

उनके साथ डिवीजनल कमिश्नर वीके मीणा, डीसी घनश्याम थोरी रहे। राज्यपाल शाम को सिद्ध शक्तिपीठ श्री देवी तालाब मंदिर गए। वे रात पीएपी कैंपस में रुके और मंगलवार सुबह 10:30 बजे खटकड़ कलां के लिए रवाना होंगे। करतारपुर में आईजी रेंज जीएस ढिल्लों, एसएसपी (ग्रामीण) सतिंदर सिंह समेत अन्य अधिकारियों ने सभी दीर्घाओं और सभागार में गए। इस दाैरान प्रबंध समिति के उपाध्यक्ष सतनाम मानक, सचिव लखविंदर जौहल, सदस्य रमेश मित्तल भी साथ रहे। इस माैके पर प्रमुख सचिव जेएम बालमुरुगन, राज्यपाल के एडीसी (एम) अमित तिवारी, एडीसी पीएस परमार और एडीसी (जनरल) अमरजीत सिंह बैंस आदि माैजूद रहे। राज्यपाल अपनी यात्रा के दौरान पुडुचेरी के लेफ्टिनेंट गवर्नर डाॅ. इकबाल सिंह के घर पहुंचे। डॉ. सिंह ने बताया कि जब गवर्नर पुरोहित असम के गवर्नर थे, तब वे असम में पार्टी गतिविधियों के इंचार्ज थे।

खबरें और भी हैं...