पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • He Removed The Earrings From His Ears If The School Money Is Full Then I Give It To Him, If Need Be, He Will Give Me The Clothes Off

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जालंधर में फूटा पेरेंट्स का गुस्सा:कान से बालियां उतार बोले- स्कूल के पैसे पूरे होते हैं तो मैं इन्हें देता हूं, जरूरत पड़ी तो कपड़े उतारकर भी दे दूंगा

जालंधर13 दिन पहले
कान्फ्रेंस के दौरान कान से बाली उतारकर आपबीती बताते पेरेंट्स।
  • पेरेंट्स का आरोप-फीस न देने पर उनके गहनों, कपड़ों और घूमने-फिरने के लिए जाने पर तंज कस रहे स्कूल
  • सुप्रीम कोर्ट व हाईकोर्ट के आदेश के बावजूद वसूली जा रही तरह-तरह की फीसें
  • डिप्टी कमिश्नर के सख्त आदेश भी खानापूर्ति साबित हुए, स्कूलों के दबाव में प्रशासन

प्राइवेट स्कूलों की मनमानी फीस वसूली के खिलाफ जालंधर में पेरेंट्स का गुस्सा फूट पड़ा। पंजाब प्रेस क्लब में कॉन्फ्रेंस के दौरान एक पेरेंट्स चेतन वर्मा ने कहा कि उन्होंने स्कूल के आगे फीस न दे पाने पर मजबूरी जताई थी कि कोरोना की वजह से कामकाज नहीं चला। इससे स्कूल के जेंट्स प्रतिनिधि ने तंज कसा कि कान में सोने की बालियां पहनी हैं और आपकी पत्नी भी टिप-टॉप है। उन्होंने कान्फ्रेंस में ही कान की बाली उतारकर आगे रख दी कि इससे स्कूल फीस पूरी होती हो तो वो देने के लिए तैयार हैं। अगर स्कूल को मेरे कपड़े अच्छे लगे तो मैं वो भी दे दूंगा। यह हालात तब हैं जबकि सुप्रीम कोर्ट व हाईकोर्ट ने जबरन फीस वसूली पर रोक लगा रखी है।

डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी ने भी सख्त आदेश दिए थे कि प्राइवेट स्कूल प्रबंधक कोर्ट के आदेश मानें। इसके बावजूद मनमानी नहीं रुक रही। प्रशासन भी स्कूल प्रबंधकों के दबाव में है, जिस वजह से मनमानी करने वालों पर कोई कार्रवाई नहीं की जा रही।

सोशल मीडिया खंगाल रहे स्कूल प्रबंधक

पेरेंट्स ने आरोप लगाया कि पैसे वसूली के लिए स्कूल प्रबंधक बहुत निचली हद तक जा चुके हैं। उनके पहने गहनों व कपड़ों पर कमेंट्स के बाद उनके सोशल मीडिया अकाउंट खंगाले जा रहे हैं। उन्हें कहा जा रहा है कि दुबई व अन्य जगहों पर घूमने के पैसे हैं तो फीस भरने के लिए भी पैसे लाओ। व्यक्तिगत आरोपों से पेरेंट्स अब परेशान हो चुके हैं।

इन आदेशों को नहीं मान रहे प्रबंधक, हाईकोर्ट जाएंगे

एडवोकेट गुरजीत काहलों ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने अंतरिम आदेश दिया है कि कोई भी स्कूल फीस न देने पर किसी बच्चे को ऑनलाइन या स्कूल जाकर क्लास अटैंड करने से नहीं रोक सकते। बच्चों का रिजल्ट भी नहीं रोका जा सकता। इसके उलट फीस न भरने वालों को ऑनलाइन पढ़ाई के वॉट्सऐप ग्रुप से रिमूव किया जा रहा है। बच्चों को और भी तरह-तरह से परेशान किया जा रहा है। उन्होंने इसे कंटेप्ट ऑफ कोर्ट करार देते हुए कहा कि इसके खिलाफ हाईकोर्ट जाएंगे।

सरकार को हफ्ते का अल्टीमेटम वर्ना शिक्षा मंत्री व CM का घेराव करेंगे

प्रेस कान्फ्रेंस में शामिल नंदनी, अवनी, रेखा, पूजा, राजू अंबेडकर, अमित कुमार, हसन सोनी, एडवोकेट हरभजन सांपला, मधु रचना आदि ने कहा कि निजी स्कूलों के हाथों बच्चों व पेरेंट्स की हो रही बदतर हालत को सरकार ने हफ्ते के भीतर न रोका तो वो शिक्षा मंत्री व CM का घेराव करेंगे। पूरे पंजाब में पेरेंट्स को लामबंद कर इस आंदोलन को पंजाब लेवल पर लेकर जाएंगे।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- कुछ रचनात्मक तथा सामाजिक कार्यों में आपका अधिकतर समय व्यतीत होगा। मीडिया तथा संपर्क सूत्रों संबंधी गतिविधियों में अपना विशेष ध्यान केंद्रित रखें, आपको कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती हैं। अनुभव...

और पढ़ें