पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • If Not Wearing Masks, 2.30 Crore Politicians Collected Challans By Cutting Challans Of 47,496 People, Broke Demolition, Distancing, Only 5 Leaflets In The Name Of Action

कोरोना काल में नेताओं पर नजर-ए-इनायत:मास्क नहीं पहना तो 47,496 लोगों के चालान काटकर वसूले 2.30 करोड़ नेताओं ने लगाए धरने, डिस्टेंसिंग तोड़ी, कार्रवाई के नाम पर सिर्फ 5 पर पर्चे

जालंधर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • नेता जी बिना मास्क के होते हैं पर इनका चालान नहीं काटा जाता
  • धरनों का कोरोना हर दल ने दिया धरना, डीसी कैंपस से लेकर चौक-चौराहे तक घेरे

(वारिस मलिक/नमन तिवारी)
कोरोना महामारी में सरकार की गाइडलाइन को सख्ती लागू करवाने में कमिश्नरेट पुलिस की कार्रवाई दोतरफा रही है। इसमें आम लोगों के लिए अलग नियम कानून और राजनीतिक पार्टियों के लिए नजर-ए-इनायत वाली भूमिका अदा की गई है। कमिश्नरेट पुलिस ने मास्क न पहनने वाले आम लोगों के 47496 चालान काटकर 2.30 करोड़ रुपए की वसूली कर ली जबकि शहर में लगने वाले धरनों में सियासी लीडरशिप की अगुआई में सैकड़ों लोग पहुंचे लेकिन किसी का मास्क न पहनने या सोशल डिस्टेंसिंग का नियम न मानने पर चालान तक नहीं काटा गया। खास बात यह है कि सरकार की हिदायतों की धज्जियां उड़ाने में उनके विधायक और सीनियर लीडर भी शामिल रहे। सत्ताधारी कांग्रेस पार्टी की तरफ से भी कोरोनावायरस के बीच लॉकडाउन के दौरान ही धरना प्रदर्शन के साथ उद्‌घाटन और राजनीतिक कार्यक्रम होते रहे। पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी में नियमों का उल्लंघन होता रहा लेकिन पुलिस कार्रवाई का दम नहीं दिखा सकी। यह बात अलग है कि अकाली नेताओं पर पिछले दिनों पर्चा दर्ज किया गया, वो भी सिर्फ इस कारण क्योंकि सांसद चौधरी संतोख सिंह की कोठी का घेराव करने के दौरान अकाली नेता जबरन कोठी के अंदर घुस गए थे। इस मामले में 5 लोगों को नामजद किया गया।

अपनी और दूसरों की जान की परवाह नहीं

सियासी पार्टियों ने लॉकडाउन के दौरान कई जगह धरने प्रदर्शन किए। इस दौरान सीनियर लीडरशिप और वर्कर अपनी और दूसरों की जान खतरे में डालते नजर आए। यहां पुलिस अधिकारी भी मौजूद रहे लेकिन राजनीतिक दबाव के चलते कार्रवाई नहीं कर पाए। शिरोमणि अकाली दल लॉकडाउन के दौरान लगातार पंजाब के गंभीर मुद्दों पर रोष प्रदर्शन करता आया है। पदाधिकारी और वर्कर बिना मास्क के ही शामिल होते रहे। अकाली दल ने शहर में नकली बीज घोटाला, जहरीली शराब, पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप घोटाला और कृषि बिल के मुद्दे पर लगातार प्रदर्शन किए। इसके साथ ही आम आदमी पार्टी की तरफ से जहरीली शराब, बीज घोटाला, ऑक्सीमीटर बांटने और कृषि बिल को लेकर प्रदर्शन किए गए। वहीं, भाजपा ने पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप को लेकर धरने लगाए। सियासी पार्टियों पर कार्रवाई नहीं होने के कारण कोरोना का खतरा बढ़ गया है। रोकथाम में जुटे सेहत, प्रशासनिक अधिकारियों की परेशानी भी बढ़ी है।

राजनीतिक पार्टियों के प्रदर्शन

अकाली दल

पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप 4 अगस्त, 31 अगस्त, 2 सितंबर, 4 सितंबर, 9 सितंबर, 5 सितंबर जहरीली शराब : 5 अगस्त पेट्रोल-डीजल पर टैक्स : 7 जुलाई। जहरीली शराब और नकली बीज की बिक्री को लेकर भी शिरोमणि अकाली दल ने प्रदर्शन किए पर मास्क की अनदेखी नजर आई।

कांग्रेस

कृषि विधेयक बिल : जिले में ट्रैक्टर मार्च- 26 सितंबर कृषि विधेयक बिल पर कांग्रेस के सभी संगठनों का प्रदर्शन पैचवर्क : कांग्रेस के पार्षदों का प्रदर्शन इसके अलावा कांग्रेस के सभी विधायक लगातार उद्‌घाटन करते रहे हैं, लेकिन मास्क न पहनने का कोई चालान नहीं काटा गया।

भाजपा

पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप: भाजपा और भाजपा महिला मोर्चा का प्रदर्शन- 28 सितंबर प्रदेश प्रधान पर हमला : 13 अक्टूबर

बसपा

कृषि कानूनों का विरोध केंद्र सरकार द्वारा बनाए तीन कृषित कानूनों का विरोध किया।

आम आदमी पार्टी

कोरोना में ऑक्सीमीटर बांटे: 18 सितंबर कृषि विधेयक बिल को लेकर प्रदर्शन : 24 सितंबर पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप : 31 अगस्त इसके अलावा आप पार्टी की तरफ से कई जगहों पर विधानसभा हलका स्तर पर प्रदर्शन होते रहे है।

14 थानों की पुलिस ने 2 माह में 32600 चालान
थाना चालान जुर्माना
थाना-1 800 4 लाख
थाना-2 2000 10 लाख
थाना-3 2700 13.50 लाख
थाना-4 2500 12.50 लाख
थाना-5 3500 17.50 लाख
थाना-6 2700 13.50 लाख
थाना-7 2300 11:50 लाख
थाना-8 2000 10 लाख
सदर 2000 10 लाख
बावा खेल 2400 12 लाख
भार्गव कैंप 2300 11.50 लाख
कैंट 1800 9 लाख
रामामंडी 3400 16.50 लाख
नई बारादरी 2200 11 लाख

शिकायत मिली तो लेंगे एक्शन
मास्क की अनदेखी कर धरना-प्रदर्शन करने वालों पर कार्रवाई न होने के सवाल पर एडीसी जसबीर सिंह ने कहा कि लिखित शिकायत मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले कुछ समय से आप अपनी आंतरिक ऊर्जा को पहचानने के लिए जो प्रयास कर रहे हैं, उसकी वजह से आपके व्यक्तित्व व स्वभाव में सकारात्मक परिवर्तन आएंगे। दूसरों के दुख-दर्द व तकलीफ में उनकी सहायता के ...

और पढ़ें