पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

हिंदी दिवस:फरीदकोट के अंबेडकर नगर में नेचुरल केयर चाइल्ड लाइन की टीम ने हिंदी दिवस मनाया

फरीदकोट15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बच्चों को हिंदी दिवस का महत्त्व बताया, कहा- आज के ही दिन हिंदी को मिला राजभाषा का दर्जा

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के सहयोग से संचालित नेचुरल केयर चाइल्ड लाइन फरीदकोट की टीम ने डॉक्टर अंबेडकर नगर कम्मेआना गेट फरीदकोट में हिंदी दिवस मनाया। चाइल्ड लाइन टीम ने बच्चों को बताया कि आज देशभर में हर वर्ष 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाता है। उन्होंने बताया कि आज के ही दिन हिंदी को देश की राजभाषा का दर्जा दिया गया था। आज कई देशों में लोग हिंदी भाषा का इस्तेमाल

करते हैं। एक अध्ययन के मुताबिक संसार में बोली जाने वाली तीसरी सबसे बड़ी भाषा हिंदी है। हिंदी के प्रोत्साहन की दृष्टि से इस दिवस के आयोजन का महत्त्वपूर्ण स्थान है 1918 में महात्मा गांधी ने हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाने की वकालत की थी। जब देश को आजादी मिली तो 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा ने हिंदी को राजभाषा चुना। इस दिन राजभाषा विभाग द्वारा केंद्र सरकार के कार्यालयों, मंत्रालय, उपक्रमों और बैंकों आदि में उत्कृष्ट कार्य करने पर राजभाषा कीर्ति तथा राजभाषा गौरव पुरस्कार दिए जाते हैं।

बच्चों में करवाई ड्राइंग प्रतियोगिता जसप्रीत कौर ने पाया पहला स्थान
चाइल्ड लाइन टीम ने हिंदी दिवस के इस अवसर पर बच्चों में ड्राइंग प्रतियोगिता करवाई और प्रतियोगिता में विजेता रहे बच्चों में जसप्रीत कौर ने पहला स्थान, परवीन कौर ने दूसरा स्थान और कमलदीप सिंह ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। विजेता रहे बच्चों को एरिया वॉलंटियर चरनजीत कौर ने और चाइल्ड लाइन टीम ने इनाम देकर सम्मानित किया। इसके बाद सभी बच्चों को कोविड-19 और चाइल्ड लाइन के टोल फ्री 1098 के बारे

में जागरूक किया गया। वहीं, इस अवसर पर चाइल्ड लाइन टीम के सदस्यों ने बताया कि इस बार कोरोना के खतरे के कारण हिंदी दिवस समारोह नहीं होगा। पहले इस समारोह में ही पुरस्कार बांटे जाते थे। पूजा कुमारी, पलविंदर कौर जसकरन सिंह उपस्थित थे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर आप कुछ समय से स्थान परिवर्तन की योजना बना रहे हैं या किसी प्रॉपर्टी से संबंधित कार्य करने से पहले उस पर दोबारा विचार विमर्श कर लें। आपको अवश्य ही सफलता प्राप्त होगी। संतान की तरफ से भी को...

और पढ़ें