जालंधर में ASI ने महिला को उल्टे हाथ से पीटा:बस स्टैंड पुलिस चौकी की घटना, लेडी कांस्टेबल को करना पड़ा बीच-बचाव; पर्स से कैश चुराने में पकड़ा था महिला को

जालंधर9 महीने पहले
पुलिस चौकी में महिला को पीटता पुरुष पुलिसकर्मी।

जालंधर के बस स्टैंड से शुक्रवार देर रात पर्स से कैश चोरी के आरोप में कुछ महिलाओं को पकड़ा गया। पुलिस ने उन्हें बस स्टैंड पुलिस चौकी लेकर चली गई। वहां पर महिलाओं से पूछताछ की गई तो वो मुकरती रही। यह देख एक पुरुष सहायक सब इंस्पेक्टर (ASI) तैश में आ गया। उसने उलटे हाथ से एक आरोपी महिला की पिटाई शुरू कर दी। मौके पर मौजूद लेडी कर्मचारी ने तुरंत उसे हटाया। थाने के भीतर ही नियम-कानून की धज्जियां उड़कर रह गई। इस दौरान आरोपी महिला रोती रही। वीडियो सामने आने के बाद पुलिस अफसर हरकत में आ गए हैं। महिला से मारपीट करने वाले ASI की पहचान के साथ ACP को पूरे मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

पर्स से कैश चोरी की जानकारी देती महिला।
पर्स से कैश चोरी की जानकारी देती महिला।

बस स्टैंड पहुंची महिला ने बताया कि कुछ महिलाएं उसके पीछे लग गई। इसके बाद एक ने उसके पर्स से रुपए निकाल लिए और दूसरी महिला को पकड़ा दिए। वो रुपए लेकर वहां से भाग गई। जब उसने देखा कि पर्स में रुपए नहीं हैं तो शोर मचा दिया। वहां मौजूद दूसरे लोगों ने इन महिलाओं को पकड़ लिया। जिसके बाद पुलिस बुलाई गई। उन्हें बस स्टैंड पुलिस चौकी लाया गया। वहां पर भी महिलाएं मुकरती रही। हालांकि बाद में पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया और पूछताछ की जा रही है।

पुलिस चौकी में पकड़ी गई आरोपी महिलाएं।
पुलिस चौकी में पकड़ी गई आरोपी महिलाएं।

पकड़ी गई तो देने लगी बद्दुआएं
जब पुलिस ने इन लोगों को पकड़ा और पूछताछ शुरू की तो एक महिला रोने लगी। वहीं अधेड़ महिला कहने लगी कि उन पर झूठा आरोप लगाया जा रहा है। उन्होंने पर्स से कैश चोरी नहीं किया है। वो जोर-जोर से चिल्लाते हुए महिला को बद्दुआएं देने लगी। महिला के साथ बच्चा भी थी, आरोपी महिलाएं उसके लिए भी भला-बुरा कहने लगी।

ऐसे काम करता है गैंग
महिलाओं के गैंग की यह पहली वारदात नहीं है। जालंधर में दुकानों से कपड़े व अन्य सामान चोरी करने से लेकर कैश उड़ाने में यह गैंग मास्टर है। इनमें गैंग की एक महिला आगे-आगे चलती है और बाकी उससे थोड़ी दूरी पर रहती हैं। दुकान से सामान उठाना हो तो कुछ महिलाएं वहां पर भीड़ बनाकर इकट्‌ठी हो जाती हैं और फिर चुपके से सामान उठाकर पीछे खड़ी महिला को पकड़ा देती हैं। जब तक चोरी का पता चलता है, वो सामान लेकर गायब हो जाती है। कैश के मामले में भी इनकी यही करतूत रहती है। चोरी का माल बरामद न होने की वजह से पुलिस अक्सर पूछताछ के बाद इन्हें छोड़ने को मजबूर हो जाती है।

खबरें और भी हैं...