पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

शांतिपूर्ण रहा किसानों का चक्काजाम:जालंधर में 3 घंटे बाद सड़कों पर फिर शुरू हुआ ट्रैफिक, भाजपा को छोड़ सभी पार्टियों ने भी किया प्रदर्शन

जालंधर21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
किसान आंदोलन के समर्थन में PAP चौक पर किया चक्काजाम।
  • ट्रैक्टर मार्च के दौरान दिल्ली हिंसा का दाग झेलने के बाद चक्काजाम को शांतिपूर्ण बनाए रखने में कामयाब रहे किसान संगठन
  • चक्काजाम, जालंधर से अमृतसर, लुधियाना, पठानकोट समेत कई बड़े शहरों के लिए ट्रैफिक की आवाजाही रही बंद
  • दिल्ली हिंसा में पकड़े गए युवाओं को रिहा करने और किसान नेताओं पर दर्ज केस वापस लेने की भी उठी मांग

कृषि कानूनों का विरोध कर रहे 40 किसान संगठनों ने शनिवार को दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक देशभर में चक्काजाम किया। जालंधर में भी यह आंदोलन शांतिपूर्ण रहा।दोपहर 12 से 3 बजे तक जाम पूरी तरह कामयाब रहा और इस दौरान सभी गाड़ियों के पहिए थमे रहे। हालांकि, अब जाम खत्म कर दिया गया है और सड़कें फिर ट्रैफिक की आवाजाही के लिए खोल दी गई हैं। वहीं, किसानों के चक्काजाम के दौरान भाजपा को छोड़ बाकी राजनीतिक दल भी किसानों के समर्थन में आए।

अकाली दल और आम आदमी पार्टी के साथ कांग्रेस व सभी छोटी-बड़ी पार्टियों ने किसान आंदोलन के समर्थन में जाम लगाकर प्रदर्शन किया। जालंधर में सबसे बड़ा जाम PAP चौक पर लगा। जिसकी वजह से जालंधर से अमृतसर, लुधियाना, पठानकोट जाने वाले रास्ते पूरी तरह ठप रहे। इसी तरह प्रतापपुरा में जाम से शहर से नकोदर, शाहकोट व फिरोजपुर रोड बंद रही। किशनगढ़ में जाम की वजह से पठानकोट से आने-जाने वाला रास्ता बंद रहा। इस दौरान अमन-कानून की स्थिति न बिगड़े, इसके लिए पुलिस के DCP स्तर के अधिकारियों को कमान सौंपी गई थी। हालांकि कुछ जगहों पर एंबुलेंस को आने-जाने में परेशानी हुई, लेकिन 26 जनवरी को दिल्ली में हिंसा का दाग झेल रहे किसान चक्काजाम को शांतिपूर्ण रखने में कामयाब रहे।

जालंधर के PAP चौक में जाम के दौरान पीछे लगे मैट खाली पड़े रहे
जालंधर के PAP चौक में जाम के दौरान पीछे लगे मैट खाली पड़े रहे

पिछली बार के मुकाबले प्रदर्शन में इस बार किसानों की संख्या कम दिखी। PAP चौक पर प्रदर्शन के दौरान किसानों के बैठने के लिए बिछाए मैट पीछे से खाली पड़े रहे। हालांकि, किसान नेताओं का तर्क है कि काफी किसान दिल्ली आंदोलन में डटे हुए हैं और कई जगहों पर चक्काजाम है, इस वजह से कम लोग आए।

लोगों को जाने से रोकते प्रदर्शनकारी।
लोगों को जाने से रोकते प्रदर्शनकारी।

राजनीतिक दलों ने अलग किया प्रदर्शन
किसान संगठनों की तरफ से अपनी स्टेज से किसी राजनीतिक नेता को न बोलने देने के चलते शहर में राजनीतिक पार्टियों के नेताओं ने अलग प्रदर्शन किया। वो किसानों की तरफ से PAP चौक, प्रतापपुरा व अन्य जगहों पर लगाए जाम में नहीं पहुंचे।

ट्रैक्टर खड़े कर बंद किया गया जालंधर-पानीपत हाईवे।
ट्रैक्टर खड़े कर बंद किया गया जालंधर-पानीपत हाईवे।

बसों की आवाजाही भी रही बंद
पंजाब रोडवेज की तरफ से जालंधर डिपो से बसों की आवाजाही भी रोक दी गई थी। आधिकारिक तौर पर इस संबंध में कोई घोषणा नहीं की गई थी। लेकिन, बस ड्राइवरों को निर्देश दिए गए थे कि जैसे ही हाईवे जाम होने की सूचना मिले तो बसों को वहीं रोककर जाम खुलने का इंतजार करें ताकि किसी तरह की कोई घटना न हो। हालांकि अब हाईवेज खुलने के बाद बसों का संचालन भी शुरू हो गया है।

जालंधर के PAP चौक में जाम में फंसी एंबुलेंस, जिसे बाद में प्रदर्शनकारियों ने निकलवाया।
जालंधर के PAP चौक में जाम में फंसी एंबुलेंस, जिसे बाद में प्रदर्शनकारियों ने निकलवाया।

एमरजेंसी सेवाओं को छूट रही, लेकिन जाम में फंसी कई एंबुलेंस
किसान संगठनों के फैसले के मुताबिक चक्काजाम के दौरान एंबुलेंस जैसी एमरजेंसी सेवाओं को न रोकने का फैसला लिया गया था लेकिन जाम की जगह पर किसानों व आम लोगों के वाहनों की वजह से एंबुलेंसों को भी जाम में फंसना पड़ा। कई एंबुलेंसों को जाम में फंसने के बाद किसानों ने निकालकर उनके गंतव्य के लिए रवाना किया।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने व्यक्तिगत रिश्तों को मजबूत करने को ज्यादा महत्व देंगे। साथ ही, अपने व्यक्तित्व और व्यवहार में कुछ परिवर्तन लाने के लिए समाजसेवी संस्थाओं से जुड़ना और सेवा कार्य करना बहुत ही उचित निर्ण...

और पढ़ें