पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पंजाब में फिर फैलता कोरोना:सूबे में जनवरी के मुकाबले फरवरी में रोज 50 केस ज्यादा; 48 दिन बाद 24 घंटे में 16 मौतें

जालंधर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जनवरी में रोज औसतन 200 केस आ रहे थे, फरवरी में 250 केस
  • 7 अध्यापक और 9 छात्रों समेत 363 मरीज कोरोना पॉजिटिव मिल

जनवरी में राहत के बाद फरवरी में कोरोना एक बार फिर तेजी से फैल रहा है। फरवरी के 22 दिनों में ही 5424 केस सामने आ गए हैं। हर रोज जनवरी से औसतन 50 केेस ज्यादा आ रहे हैं। जनवरी में प्रतिदिन औसतन 200 नए मरीज आ रहे थे। जबकि फरवरी में औसतन 250 केस आ रहे हैं। जनवरी में जहां रिकवरी रेट 96% के करीब पहुंच गया था, वहीं फरवरी में घटकर रिकवरी रेट 95% पर आ गया। अमृतसर,

लुधियाना, जालंधर, एसएएस नगर और पटियाला एवं होशियारपुर में ज्यादा संख्या में मरीज आ रहे हैं। वहीं, मंगलवार को 7 अध्यापकों व 9 छात्रों समेत 363 मरीज पॉजिटिव मिले, जबकि 16 मरीजों की मौत की भी पुष्टि हुई है। 48 दिन पहले 4 जनवरी को 19 मौतें हुईं थीं। नए साल में तीसरी बार 1 दिन में 350 से ज्यादा नए मरीज मिले हैं। सूबे में अब तक 1,78,702 मरीज संक्रमित जबकि 5769 मरीज जान गंवा चुके हैं। सोमवार

को कपूरथला में 2 अध्यापकों व 3 बच्चों, लुधियाना में 2 अध्यापकों व 2 बच्चों, अमृतसर में 3 अध्यापकों जबकि राजपुरा में 4 स्कूली बच्चों की रिपोर्ट पाॅजिटिव आई है। होशियारपुर के गढ़शंकर इलाके के गांव धमायी को माइक्रो कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। 3136 मरीजों के उपचाराधीन होने के चलते सूबे में एक्टिव दर बढ़कर 1.8% हो गई है। जबकि पहले यह 1.2% तक चली गई थी।

22 दिन में 5424 केस, मृत्युदर सबसे ज्यादा- सूबे में 1 फरवरी से 22 फरवरी तक कोरोना के कुल 5424 नए मरीज सामने आए। इसमें पहले हफ्ते में 1388, दूसरे हफ्ते में 1663 और तीसरे हफ्ते में 2182 मरीज सामने आए। सूबे में दूसरे हफ्ते 275 अधिक मरीज आए और तीसरे हफ्ते दूसरे हफ्ते की अपेक्षा 519 ज्यादा मरीज आए। पिछले हफ्ते की बार करें तो आंकड़ा 300 के ऊपर ही रहा। पंजाब में मृत्युदर देश में सबसे ज्यादा 3.2 फीसदी है।

प्रोटोकाॅल में छूट देने के बाद अब दोबारा सख्ती की तैयारी - कई सेंसटिव शहरों में दोबारा कोविड के नए केस सामने आने के बाद सरकार इन शहरों में कोविड प्रोटोकाॅल को लेकर सख्ती करने की तैयारी कर रही है। फिर से पुलिस विभाग की मदद ली जाएगी। सिविल सर्जनों की ओर से रिपोर्ट आने के बाद प्रोटोकाॅल को लेकर सख्ती की जा सकती है। इसमें पुलिस मास्क नहीं पहनने वाले और सोशल डिस्टेसिंग का पालन नहीं करने वालों के चालान काटे जाएंगे।

इन 6 शहरों में सैंपलिंग बढ़ाने पर भीो जोर- बढ़ते मामलों पर काबू पाने के लिए अब विभाग की ओर से अमृतसर, लुधियाना, जालंधर, एसएएस नगर और पटियाला एवं होशियारपुर में सैंपलिंग तेज करने के आदेश दिए गए हैं। रेंडम कोविड टैस्ट करने के लिए कहा गया है। ताकि सड़कों पर घूमने वाले कोरोना संक्रमित लोगों का पता लगाया जा सके।

भास्कर के एक्सपर्ट पैनल -डॉ. विनित महाजन, डॉ. कश्मीरी लाल, डॉ. राजेश भास्कर से जानें कोरोना के हर सवाल का जवाब

Q. नए मामले फिर तेजी से बढ़े हैं। इसका क्या कारण है।
A. लोग गाइडलाइंस भूल गए हैं। अगर भीड़ में जाना नहीं रुका, मास्क लगाना नहीं शुरू किया तो आंकड़ा हर जिले में रोजाना 100 के पार हो सकता है।
Q. जिन्हें वायरस हो रहा है, उन्हें संक्रमण कैसे हुआ?
A. 70% कहते है शादी में गए थे, कुछ शहर से बाहर गए थे। संक्रमितों में लक्षण व बिना लक्षण वाले मरीज हंै।
Q. जिनमें एंटीबॉडी बन चुकी है। उन्हें संक्रमण होगा?
A. ऐसी धारणा बनाने वालों को नुकसान होगा, क्योंकि केंद्र की रिपोर्ट के अनुसार अभी 20% लोगों को संक्रमण हुआ है। बाकियों को होने की पूरी संभावना है।
Q. बचाव के लिए किन बातों का ज्यादा ध्यान रखें?
A. भीड़ में जाने से परहेज करें। घर से बाहर हैं तो हाथ मुंह तक न लेकर जाएं।
Q. इम्युनिटी बढ़ाने को कोई दवा, नुस्खे अपनाने चाहिए?
A. जब तक संक्रमण न हो तबतक किसी भी प्रकार को इम्युनिटी को मजबूत करने वाली दवा या देसी नुस्खा लेना जरूरी नहीं है।
Q. क्या हर समय मास्क लगाएं? हां तो कौन सा?
A. गाड़ी में अकेले हैं तो मास्क न लगाएं। बाहर निकलें तो मास्क जरूरी है। मार्केट में बने कपड़े के मास्क से फायदा नहीं है, थ्री प्लाई सर्जिकल मास्क उपयोग करें। सेनेटाइजर यूज करते रहें।
Q. इम्युनिटी मजबूत बनाने को क्या करना चाहिए?
A. नियमित योगा व्यायाम, अच्छे खाने से मजबूत बनाया जा सकता है।
Q. नए मामले फिर तेजी से बढ़े हैं। इसका क्या कारण है।
A. लोग गाइडलाइंस भूल गए हैं। अगर भीड़ में जाना नहीं रुका, मास्क लगाना नहीं शुरू किया तो आंकड़ा हर जिले में रोजाना 100 के पार हो सकता है।
Q. जिन्हें वायरस हो रहा है, उन्हें संक्रमण कैसे हुआ?
A. 70% कहते है शादी में गए थे, कुछ शहर से बाहर गए थे। संक्रमितों में लक्षण व बिना लक्षण वाले मरीज हंै।
Q. जिनमें एंटीबॉडी बन चुकी है। उन्हें संक्रमण होगा?
A. ऐसी धारणा बनाने वालों को नुकसान होगा, क्योंकि केंद्र की रिपोर्ट के अनुसार अभी 20% लोगों को संक्रमण हुआ है। बाकियों को होने की पूरी संभावना है।
Q. बचाव के लिए किन बातों का ज्यादा ध्यान रखें?
A. भीड़ में जाने से परहेज करें। घर से बाहर हंै तो हाथ मुंह तक न लेकर जाएं।
Q. इम्युनिटी बढ़ाने को कोई दवा, नुस्खे अपनाने चाहिए?
A. जब तक संक्रमण न हो तबतक किसी भी प्रकार को इम्युनिटी को मजबूत करने वाली दवा या देसी नुस्खा लेना जरूरी नहीं है।
Q. क्या हर समय मास्क लगाएं? हां तो कौन सा?
A. गाड़ी में अकेले हैं तो मास्क न लगाएं। बाहर निकलें तो मास्क जरूरी है। मार्केट में बने कपड़े के मास्क से फायदा नहीं है, थ्री प्लाई सर्जिकल मास्क उपयोग करें। सेनेटाइजर यूज करते रहें।
Q. इम्युनिटी मजबूत बनाने को क्या करना चाहिए?
A. नियमित योगा व्यायाम, अच्छे खाने से मजबूत बनाया जा सकता है।
Q. क्या कोरोना दोबारा शुरू हुआ है? क्या नए स्ट्रेन में बदलाव है?
A. वायरस दोबारा तब शुरू होता अगर वह खत्म होता। लोगों ने टेस्ट करवाने बंद किए।अब खांसी बुखार बढ़ा तो टेस्ट होेने से पुष्टि शुरू हुई है। नए स्ट्रेन का मामला अभी स्पष्ट नहीं है।
Q. बात करते/चलते सांस टूटे तो ये कोरोना के लक्षण हैं?
A.अस्पतालों में कई मरीज आए हैं, जिन्हें सांस टूटने की शिकायत हुई। ऐसा तब होता है जब संक्रमण 7-8 दिन पहले हो चुका होता है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें