• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • In View Of The Security Of The Prime Minister, The Lovely University Highway Will Remain Closed From Pathankot Bypass On The Other Side Till PAP.

PM मोदी की आज जालंधर में चुनावी रैली:रूट डायवर्ट रहेंगे; लवली यूनिवर्सिटी से आगे और पठानकोट बाइपास से आगे PAP तक बंद रहेगा हाईवे

जालंधर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। - Dainik Bhaskar
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।

कहते हैं कि दूध का जला छाछ भी फूंक मार-मार कर पीता है। यही वजह है कि पिछली बार प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक से सबक लेते हुए सुरक्षा एजेंसियां इस बार किसी भी तरह का कोई लूप होल नहीं छोड़ना चाहती। पुलिस ने प्रधानमंत्री की रैली से दो दिन पहले ही जहां रिहर्सल शुरू कर दी थी वहीं पर अब उनकी सुरक्षा को देखते हुए उनका रैली स्थल भी शहर की सबसे सुरक्षित जगह पीएपी (पंजाब आर्म्ड पुलिस) के प्रशिक्षण मैदान में रखी है। पीएपी ग्राउंड के चारों तरफ सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद की गई है।

दोपहर दो बजे जालंधर पहुंचेगे मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जांलधर पीएपी ग्राऊंड में दोपहर दो बजे पहुंचेंगे। दिल्ली से प्रधानमंत्री एयरफोर्स के हेलीकाप्टर से आएंगे। प्रधानमंत्री पीएपी ग्राऊंड में ही रैली स्थल के पास बने हैलीपैड पर लैंड करेंगे और वहीं से मंच पर पहुंचेंगे। जिस स्थान पर रैली को प्रधानमंत्री संबोधित करेंगे उसके पीछे से रेलवे ट्रैक भी गुजरता है और सुरक्षा के मद्देनजर उस तरफ सुरक्षा एजेंसियों ने सख्त पैहरा बिठा रखा और दीवारों पर ऊंचा जाल लगा दिया है। पीएपी के पास से गुजरते फ्लाई ओवर पर भी स्क्रीन लगा कर पीएपी का विजन बंद किया गया है ताकि पुल के ऊपर से भी कोई अंदर न झांक सके।

पीएपी जालंधर
पीएपी जालंधर

राष्ट्रीय उच्च मार्ग का फ्लाई ओवर ब्रिज बंद रहेगा

पीएपी में रैली के दौरान ग्राउंड के साथ से घूमता राष्ट्रीय उच्च मार्ग का फ्लाई ओवर ब्रिज भी रैली के दौरान बंद रखने की सुरक्षा एजेंसियों ने व्यवस्था की है। हालांकि कोई भी अधिकारी इस बारे में कुछ भी बोलने से कतरा रहा है लेकिन पता चला है कि शहर में पठानकोट अमृतसर, होशियारपुर और दूसरी तरफ लुधियाना, दिल्ली, चंडीगढ़ की तरफ से हाईवे पर आने वाले ट्रैफिक तो डायवर्ट करने का प्लान बना लिया है। सूत्रों के हवाले से पचा चला है कि लुधियाना की तरफ से आने वाले हैवी व्हीकल्स (बस ट्रक, जीप) इत्यादि को फगवाड़ा से ही नकोदर रोड पर डायवर्ट किया जाएगा। सिर्फ छोटे वाहन जा सकेंगे।

जबकि छोटे वाहनों को लवली यूनिवर्सिटी आर मैकडोनाल्ड से वाया कैंट क्षेत्र डायवर्ट किया जा रहा है। पीएपी चौक को तो पूरी तरह से बंद किया जा रहा है। इसी तरह से अमृतसर की तरफ से आने वाले वाहनों जिन्हें होशियारपुर की तरफ जाना है को करतारपुर से किशनगढ़ की तरफ डायवर्ट किया जाएगा। किशनगढ़ से वाहन वाया आदमपुर होकर होशियारपुर जाएंगे। जालंधर में आने वाले वाहनों को वाया मकसूदां शहर में एंट्री दी जा रही है। पठानकोट की तरफ से आने वाले ट्रैफिक को भी पठानकोट बाईपास से वाया मकसूदां, दोआबा चौक और लंबा पिंड से शहर में एंट्री करवाई जाएगी। जबकि फ्लाई ओवर से वाहनों की आवाजाही पूरी तरह से बंद रखी जाएगी। शहर में ही लाडोवाली से गुरुनानकपुरा लद्देवाली जाने वाला मार्ग बंद कर दिया गया है।

फिरोजपुर में पुल पर फंसे पीएम की फाइल फोटो
फिरोजपुर में पुल पर फंसे पीएम की फाइल फोटो

तीस हजार की कैपेसिटी, बीस हजार कुर्सियां लगाईं

प्रधानमंत्री की रैली सुरक्षा कारणों से अति सुरक्षित पीएपी ग्राउंड में रखी गई है। पीएपी ग्राउंड में कुर्सियां लगाकर बैठाने की कैपेसिटी तीस हजार के करीब है। लेकिन भारतीय जनता पार्टी ने प्रधानमंत्री की रैली को लेकर बीस हजार कुर्सियां लगाई हैं। रैली के दौरान पीएपी के आसपास के क्षेत्र में आते सारे मोबाइल टावरों को सुरक्षा की दृष्टि से पूरी तरह जैम करके रखा जाएगा और प्रधानमंत्री के जाने के बाद ही खोला जाएगा।

फिरोजपुर रैली में नहीं पहुंच पाए थे पीएम

चुनाव की घोषणा से पहले पांच जनवरी को प्रधानमंत्री की भाजपा ने फिरोजपुर में रैली रखी थी। प्रधानमंत्री ने बठिंडा एयरपोर्ट पर विमान से आने के बाद आगे रैली स्थल तक हैलीकाप्टर से जाना था लेकिन मौसम खराब होने के कारण उन्हें अपना रूट बदलना पड़ा। वह सड़क मार्ग से रैली स्थल पर जाने के लिए निकले तो रास्ते में किसान धरना लगाकर बैठे हुए थे जिससे वह रैली स्थल पर नहीं पहुंच पाए थे। जाते-जाते प्रधानमंत्री कह गए थे कि अपने मुख्यमंत्री से कह देना वह जिंदा वापस लौट रहे हैं। हालांकि किसानों का कहना था कि उन्हें कोई जानकारी नहीं थी कि प्रधानमंत्री सड़क मार्ग से आ रहे हैं। किसानों का यह भी कहना था कि उन्हें पुलिस वालों ने भी जब तक बताया तब तक प्रधानमंत्री का काफ़िला उनके नजदीक पहुंच चुका था। इसके बाद इस मामले पर खूब किरकिरी हुई थी। हालांकि प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक को लेकर मामला कोर्ट में विचाराधीन है।

खबरें और भी हैं...