• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Jalandhar Counter Intelligence Arrested Firozpur Village Jogewal Sarpanch, Sarpanch Harpreet Alias Har, Provide Safe House And Money To Terrorists

फिरोजपुर में ISI मॉड्यूल का भंडाफोड़:आतंकियों को पनाह और पैसा देने वाला जोगेवाल का सरपंच गिरफ्तार, हथियार भी उपलब्ध करवाता

जालंधर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंजाब के फिरोजपुर में जालंधर काउंटर इंटेलिजेंस ने पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है। काउंटर इंटेलिजेंस की टीम ने फिरोजपुर से पाकिस्तान में बैठे आतंकी हरविंदर सिंह उर्फ रिंदा और इटली में बैठे हरप्रीत सिंह उर्फ हैप्पी संघेड़ा के लिए काम करने वाले गांव जोगेवाल के सरपंच को गिरफ्तार किया।

हरप्रीत सिंह का काम आतंकियों को पैसे देने के साथ-साथ उन्हें सुरक्षित पनाह देना था। पकड़ा गया सरपंच नशे का व्यापारी होने के साथ-साथ रिंदा और हैप्पी के कहने पर हथियार भी उपलब्ध करवाता था।

डीजीपी गौरव यादव ने कहा कि सूबे के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान के निर्देशानुसार गैंगस्टरों के खिलाफ छेड़ी गई मुहिम के तहत तीसरा ऑपरेशन करके रिंदा और लखबीर सिंह उर्फ लंडा के माध्यम से पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई द्वारा चलाए जा रहे मॉड्यूल का फिरोजपुर में भंडाफोड़ किया। उन्होंने कहा कि गिरफ्तार किए गए आरोपी की पहचान जिला फिरोजपुर के तहत आते गांव जोगेवाल के सरपंच हरप्रीत सिंह उर्फ हर के रूप में हुई।

डीजीपी का ट्वीट।
डीजीपी का ट्वीट।

डीजीपी ने कहा कि पिछले हफ्ते काउंटर इंटेलिजेंस की टीम ने एआईजी नवजोत सिंह माहल के नेतृत्व में छापामारी कर बलजीत सिंह मल्ली और गुरबख्श सिंह उर्फ गोरा संधू को गिरफ्तार किया गया था। दोनों से पूछताछ के बारे में लीड मिली थी कि जोगेवाल के सरपंच हरप्रीत सिंह के इटली में बैठे आतंकी हरप्रीत सिंह उर्फ हैप्पी संघेड़ा के साथ काफी नजदीकी है। उन्होंने यह भी बताया था कि गांव के सरपंच के कहने पर ही उन्हें हथियारों की जगह का पता चला था।

बता दें कि दोनों पकड़े गए आतंकियों बलजीत सिंह मल्ली और गुरबख्श सिंह उर्फ गोरा संधू से पुलिस ने एक एके-56 राइफल, एक मैगजीन और 90 जिंदा कारतूस उनकी बताई गई जगह से बरामद किए थे। डीजीपी ने बताया कि पकड़े गए सरपंच हरप्रीत सिंह उर्फ हर ने पुलिस पूछताछ में माना है कि वह कनाडा में बैछे लखबीर सिंह उर्फ लंडा और ईटली में बैठे हरप्रीत सिंह उर्फ हैप्पी संघेड़ा के संपर्क में था।

पिछले दिनों पकड़े गई एके-56 राइफल व 90 जिंदा कारतूस
पिछले दिनों पकड़े गई एके-56 राइफल व 90 जिंदा कारतूस

उसने लखबीर सिंह लंडा के कहने पर उसके एक साथी मेहता रोड अमृतसर निवासी जगजीत सिंह उर्फ जोटा को दस दिन के लिए फिरोजपुर के मक्खू में सुरक्षित पनाह उपलब्ध करवाई थी। डीजीपी ने बताया कि जोटा के खिलाफ चार क्रिमिनल केस चल रहे हैं और वर्तमान में वह अमृतसर सेंट्रल जेल में बंद है।

सरपंच के साथ-साथ पकड़ा गया बलजीत सिंह मल्ली ने पूछताछ में बताया था कि इटली में बैठे आतंकी हरप्रीत सिंह हैप्पी के कहने पर ही उसने जुलाई 2022 में सैंक्चुअरी एरिया के साप लोहियां-मक्खू रोड पर हथियारों की खेप हासिल की थी।

डीजीपी गौराव यादव ने कहा कि आरोपी सरपंच हरप्रीत सिंह उर्फ हर ने सिर्फ आतंकियों के साथ ही मिला हुआ हुआ नहीं है बल्कि नशा तस्करों के साथ भी काम करता रहा है। उन्होंने कहा कि सरपंच ने कस्टडी में माना है कि वह नशा तस्करी में भी शामिल रहा है। अभी हाल ही में तरनतारन में पकड़े गए नशा तस्कर नछत्तर सिंह उर्फ मोती के साथ वह मिलकर काम करता था। वह नछत्तर की ऩशे की खेप को इधर से उधर पहुंचाने का काम करता था।

गैंगस्टरों के कहने पर इकट्ठे करता था पैसे, आगे आतंक के लिए देता था

हरप्रीत सिंह गैंगस्टरों के कहने पर पैसै इकट्ठे करने का काम भी करता था। जो पैसे इकट्ठा होता था वह आतंक फैलाने के लिए प्रयोग करता था। काउंटर इंटेलिजेंस जालंधर के एआईजी नवजोत सिंह माहल ने बताया कि इटली में बैठा हैप्पी संघेड़ा और कनाडा में बैठा लंडा उसे पैसे कहां से लेने है इसका पता भेजते थे।

वह दोनों गैंगस्टरों के बताए गए पते पर जाकर कैश इकट्ठा करता था। आगे यह पैसे आतंक फैलाने वालों की सहायता करने उन्हें आतंक का सामान उपलब्ध करवाने में इस्तेमाल करता था। उन्होंने कहा कि पकड़े गए सरपंच से अभी और भी बहुत सारे खुलासे होने की उम्मीद है।

खबरें और भी हैं...