सूर्या एनक्लेव के प्लॉट्स में हेराफेरी:जालंधर इम्प्रूवमेंट ट्रस्ट के दो क्लर्क निलंबित, दोनों का विवादों से रहा पुराना नाता

जालंधर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इम्प्रूवमेंट ट्रस्ट जालंधर - Dainik Bhaskar
इम्प्रूवमेंट ट्रस्ट जालंधर

पंजाब के जालंधर जिले में सूर्या एनक्लेव के प्लॉट्स में हेरफेर करने के आरोप में इम्प्रूवमेंट ट्रस्ट के दो क्लर्कों पर गाज गिरी है। स्थानीय सरकार विभाग ने दोनों क्लर्कों को तुरंत प्रभाव से निलंबित करने के आदेश जारी किए हैं। दोनों को निलंबित करने के बाद इनके मुख्यालय भी बदल दिए गए हैं। दोनों को चंडीगढ़ स्थित मुख्यालय में लगा दिया गया है। निदेशक स्थानीय सरकार विभाग ने यह कार्रवाई विजिलेंस अफसर की सिफारिश पर की है। निलंबन के दौरान दोनों को सिर्फ गुजारा भत्ता मिलेगा।

दोनों क्लर्कों का निलंबन पत्र
दोनों क्लर्कों का निलंबन पत्र

निदेशक स्थानीय सरकार ने सूर्या एनक्लेव के प्लॉट्स की गड़बड़ी के मामले में चीफ विजिलेंस अफसर की सिफारिश पर जालंधर इम्प्रूवमेंट ट्रस्ट के सीनियर सहायक अजय मल्होत्रा और जूनियर सहायक अनुज राय को निलंबित कर दिया है। चीफ विजिलेंस ऑफिस की टीम ने पिछले दिनों जालंधर इम्प्रूवमेंट ट्रस्ट का रिकॉर्ड खंगाला था। उसमें सूर्या एनक्लेव के प्लॉट नंबर 356बी-1, 32सी, 552बी, 31सी, सूर्या एनक्लेव एक्सटेंशन के प्लॉट नंबर 43सी की अलॉटमेंट फाइलों की पड़ताल की तो इसमें कई तरह की गड़बड़ियां सामने आई थीं। इन्हीं गड़बड़ियों को आधार बनाकर सीवीओ की टीम ने दोनों को निलंबित करने की सिफारिश की थी।

एक पर एफआईआऱ, दूसरे पर गबन का आरोप

निलंबित किए गए दोनों सीनियर औऱ जूनियर सहायक पहले से ही विवादों में हैं। सीनियर सहायक अजय मल्होत्रा पर इम्प्रूवमेंट ट्रस्ट की फाइलें गायब करने का आरोप हैं। उन पर डीसी कम चेयरमैन इम्प्रूवमेंट ट्रस्ट की सिफारिश पर एफआईआर दर्ज की गई है, जबकि जूनियर सहायक पर इम्प्रूवमेंट ट्रस्ट के दफ्तर में पैसे के गबन का आरोप है।

इस गबन को भी सीवीओ की टीम ने ही उजागर किया था। निलंबित चल रहे ईओ परमिंदर सिंह गिल औऱ लेखाकार अशीष के साथ मिलकर ट्रस्ट के पैसों से गिफ्ट औऱ चुनाव में ड्यूटी देने वाले कर्मचारियों के खाने पर खर्च करके धन के दुरुपयोग का आरोप है। कार्यालय में करीब साढ़े छह लाख रुपए का घोटाला किया हुआ है। क्लर्क के नाम पर चैक पास और कैश हो जाते थे।