• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Police Nabbed UCO Bank Loot Case Mastermind Gurpreet Alias Gopi, Recovered One Lakh Cash And Looted Ornaments Of Bank Employee

जालंधर में यूको बैंक लूटने वाला गोपी गिरफ्तार:जयपुर भागकर वेटर की नौकरी की, अमृतसर भागने की फिराक में था, बस स्टैंड से पकड़ा

जालंधरएक महीने पहले

पंजाब के जालंधर में इंडस्ट्रियल एरिया सोढल स्थित यूको बैंक में लूट करने वाला मुख्य आरोपी गुरप्रीत सिंह उर्फ गोपी पुलिस के हत्थे चढ़ गया है। लूट के बाद गोपी राजस्थान के जयपुर भाग गया था। वहां वह एक होटल में वेटर की नौकरी कर रहा था। वहां से जालंधर लौटा को पुलिस ने उसे बस स्टैंड के पास से गिरफ्तार कर लिया। वह अमृतसर भागने की फिराक में था।

हालांकि पुलिस ने फिल्मी कहानी की तर्ज पर सरकारी रिकार्ड में उसकी गिरफ्तारी मकसूदां चौक से दिखाई है। पुलिस को गोपी के बारे में पता चल गया था कि वह जयपुर में किसी होटल में वेटर का काम कर रहा है। पुलिस ने वहां पर दबिश दी, लेकिन पुलिस के हाथ कुछ नहीं लगा। पुलिस के आने की भनक गोपी को पहले ही लग गई थी। वह पुलिस से बचने के लिए जालंधर भाग आया।

गोपी से बरामद रिवाल्वर, लूटे गए सोने के कहने और कैश
गोपी से बरामद रिवाल्वर, लूटे गए सोने के कहने और कैश

17 अक्टूबर को जब यह पता चला कि उसे जालंधर में पुलिस पकड़ सकती है तो वह बस से अमृतसर भागने के लिए बस अड्डे पर पहुंचा। लेकिन पुलिस ने वहां पहले ही अपना जाल बिछाया हुआ था। उस जाल में गोपी फंस गया और पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। पुलिस पूछताछ में गोपी ने बताया है कि वह लूटे गए पैसों में लाखों रुपए जुए में हार चुका है।

पुलिस को गोपी के पास से वारदात में प्रयोग किया गया रिवाल्वर, एक लाख कैश और बैंक में महिला अधिकारी से जो गन पॉइंट पर आभूषण लूटे थे वह बरामद हो गए हैं। गोपी के पास से मिला रिवाल्वर उसका लाइसेंसी है, लेकिन केस दर्ज होने के बाद लाइसेंस रिन्यू नहीं हुआ। गोपी ने रिवाल्वर को जमा करवाने की बजाय अवैध रूप से अपने पास रखा हुआ था।

पकड़ा गया लूट का मुख्य आरोपी गुरप्रीत सिंह गोपी पुलिस टीम के साथ
पकड़ा गया लूट का मुख्य आरोपी गुरप्रीत सिंह गोपी पुलिस टीम के साथ

बता दें कि इससे पहले पुलिस ने यूको बैंक में लूट करने वाले 4 आरोपियों में से 3 अजयपाल उर्फ निहंग, विनय तिवारी और तरुण को पहले ही गिरफ्तार कर लिया था। बैंक में 4 में से 3 लुटेरे गए थे। लुटेरों ने गन पॉइंट पर बैंक में स्टाफ और लोगों को बंधक बना लिया था। इसके बाद 13.84 लाख रुपया लूट कर ले गए थे। इतना ही नहीं बैंक में काम करने वाली एक महिला अधिकारी के हाथ में पहनी 2 सोने की अंगूठियां, 2 सोने की चूड़ियां, कानों से बालियां और गले में पहनी सोने की चेन भी लूट कर ले गए थे।

बैंक में लूट की सारी घटना वहां पर लगे सीसीटीवी कैमरों में कैद हो गई थी। पुलिस ने बैंक में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज के अलावा जिस रूट से लुटेरे गलियों से होते हुए भागे थे उन सभी गलियों में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को कब्जे में ले लिया था। इसके अलावा लूट के समय बैंक की लोकेशन पर जितने भी मोबाइल चल रहे थे उनका डंप भी उठा लिया था। बहुत ही तकनीकी और सांंटिफिक तरीका अपनाते हुए पुलिस ने तीन लुटेरों को बस्ती क्षेत्र में ही पकड़ लिया था। जबकि गोपी शहर छोड़ कर भाग गया था।

बस्ती शेख के उत्तम नगर का रहने वाला गुरप्रीत सिंह उर्फ गोपी पुत्र इंद्रजीत सिंह हिस्ट्रीशीटर है। दो बच्चों के बाप गोपी पर विभिन्न थानों में इरादा कत्ल, लूट से लेकर चोरी के पांच केस रजिस्टर्ड हैं। इनमें से कई मामलों में यह कोर्ट से भगौड़ा हो चुका है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि गोपी का कोर्ट में पेश कर रिमांड लिया गया है। उससे पूछताछ में अन्य वारदातों के बारे में भी पता लगाया जाएगा।

खबरें और भी हैं...