पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

डॉक्टरों को DC का आदेश:जालंधर में घर पर ऑक्सीजन सिलेंडर देने पर रोक, जरूरत हो तो अस्पताल में भर्ती हो मरीज

जालंधर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
DC ने कहा कि अगर सिलेंडर दिए गए तो अस्पतालों के लिए शॉर्टेज हो जाएगी। - Dainik Bhaskar
DC ने कहा कि अगर सिलेंडर दिए गए तो अस्पतालों के लिए शॉर्टेज हो जाएगी।

जालंधर में कोविड मरीज को घर पर ऑक्सीजन सिलेंडर देने पर रोक लगा दी गई है। अगर किसी मरीज को इसकी जरूरत हो तो उसे अस्पताल में भर्ती होने को कहा गया है। अस्पतालों में मरीजों को पर्याप्त ऑक्सीजन सप्लाई उपलब्ध कराने के लिए डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी ने यह आदेश दिए हैं। इसके बाद हर मरीज को अस्पताल में ऑक्सीजन वाला बैड मिले, यह सुनिश्चित करने के लिए सिविल सर्जन व मेडिकल सुपरिटेंडेंट की ड्यूटी लगा दी गई है।

डॉक्टर नहीं करेंगे रिकमेंड

DC घनश्याम थोरी ने कहा कि अब कोई भी सरकारी या प्राइवेट डॉक्टर किसी भी मरीज को घर पर ऑक्सीजन सिलेंडर रिकमेंड नहीं करेगा। अगर मरीज को ऑक्सीजन की जरूरत है तो उसे उसी अस्पताल में ऑक्सीजन सप्लाई वाले लेवल टू बैड की सुविधा दें। अगर उनके पास जगह नहीं है तो उस मरीज को सिविल अस्पताल में भर्ती कराएं।

शॉर्टेज से निपटने के लिए उठाया कदम

डिप्टी कमिश्नर के मुताबिक अस्पतालों में ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी न हो, इसलिए यह कदम उठाया गया है। उन्होंने कहा अगर कोविड के बाद भी किसी मरीज को सिलेंडर दिया जाता है तो इससे अस्पताल में ऑक्सीजन सप्लाई के लिए पर्याप्त सिलेंडर नहीं बचेंगे। इसलिए यह आदेश जारी करना पड़ा।

वापस नहीं आ रहे सिलेंडर

बड़ी समस्या यह भी है कि अगर मरीज को घर पर सिलेंडर दिया जाता है तो वो फिर वापस नहीं आता। कोरोना काल चल रहा है, ऐसे में दोबारा कहीं जरूरत न पड़ जाए, इस वजह से लोग सिलेंडर को वापस नहीं करते। वहीं, सबसे बड़ी दिक्कत तब आती है, जब वो सिलेंडर भरवाने के लिए खुले बाजार में जाते हैं। वहां सिलेंडर भरने की मनाही है, ऐसे में प्रशासन की किरकिरी होती है।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत होगा। जिससे आपकी विचार शैली में नयापन आएगा। दूसरों की मदद करने से आत्मिक खुशी महसूस होगी। तथा व्यक्तिगत कार्य भी शांतिपूर्ण तरीके से सुलझते जाएंगे। नेगेट...

और पढ़ें